Corona_UpdatesNational

एम्स के फोरेंसिक प्रमुख ने कहा- मौत के 12-24 घंटे बाद कोरोना वायरस नाक व मुंह की गुहाओं में सक्रिय नहीं रहता

New Delhi : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में फोरेंसिक प्रमुख डॉ सुधीर गुप्ता ने कहा है कि एक संक्रमित व्यक्ति की मौत के 12 से 24 घंटे बाद कोरोना वायरस नाक और मुंह की गुहाओं (नेजल एवं ओरल कैविटी) में सक्रिय नहीं रहता जिसके कारण मृतक से संक्रमण का खतरा अधिक नहीं होता है.

डॉ गुप्ता ने कहा कि मौत के बाद 12 से 24 घंटे के अंतराल में लगभग 100 शवों की कोरोना वायरस संक्रमण के लिए फिर से जांच की गयी थी, जिनकी रिपोर्ट नकारात्मक आयी. मौत के 24 घंटे बाद वायरस नाक और मुंह की गुहाओं में सक्रिय नहीं रहता है.

इसे भी पढ़ें :फ्री कफन देने के मामले पर सीपीएम नेता ने सरकार पर साधा निशाना, कहा कफन नहीं, स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार दीजिए

उन्होंने कहा कि एक संक्रमित व्यक्ति की मौत के 12 से 24 घंटे के बाद कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा अधिक नहीं होता है. पिछले एक साल में एम्स में फोरेंसिक मेडिसिन विभाग में ‘कोविड-19 पॉजिटिव मेडिको-लीगल’ मामलों पर एक अध्ययन किया गया था. इन मामलों में पोस्टमॉर्टम किया गया था.

advt

उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से पार्थिव शरीर से तरल पदार्थ को बाहर आने से रोकने के लिए नाक और मुंह की गुहाओं को बंद किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि एहतियात के तौर पर ऐसे शवों को संभालनेवाले लोगों को मास्क, दस्ताने और पीपीई किट पहनने चाहिए.

डॉ गुप्ता ने कहा कि अस्थियों और राख का संग्रह पूरी तरह से सुरक्षित है क्योंकि अस्थियों से संक्रमण के फैलने का कोई खतरा नहीं है.

इसे भी पढ़ें :ब्लैक फंगस के इलाज के लिए कम पड़े इंजेक्शन तो अल्टरनेट दवा इस्तेमाल करने का निर्देश

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने मई 2020 में जारी ‘कोविड-19 से हुई मौत के मामलों में मेडिको-लीगल ऑटोप्सी के लिए मानक दिशा-निर्देशों में सलाह दी थी कि कोविड-19 से मौत के मामलों में फोरेंसिक पोस्टमार्टम के लिए चीर-फाड़ करनेवाली तकनीक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे मुर्दाघर के कर्मचारियों के अत्यधिक एहतियात बरतने के बावजूद, मृतक के शरीर में मौजूद द्रव तथा किसी तरह के स्राव के संपर्क में आने से इस जानलेवा रोग की चपेट में आने का खतरा हो सकता है.

इसे भी पढ़ें :गंगा में लाश फेंकने वाले कर रहे कफन पर राजनीतिः कांग्रेस

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: