Corona_UpdatesNational

AIIMS विशेषज्ञों का दावाः सिर्फ फेफड़ा ही नहीं दूसरे अंगों को भी प्रभावित कर सकता है कोरोना

New Delhi: देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ती जा रही है. वहीं इसकी रिकवरी रेट भी बढ़ी है. इस बीच दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के विशेषज्ञों ने बुधवार को कहा कि कोविड-19 न केवल फेफड़े को बल्कि करीब सभी अंगों को प्रभावित कर सकता है और प्रारंभिक लक्षण छाती की शिकायत से बिल्कुल असंबंधित हो सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः सुशांत मौत केस: NCB ने रिया के खिलाफ दर्ज की FIR, जल्द समन भेजने की तैयारी

फेफड़े के अलावे दूसरे अंग भी होते हैं प्रभावित

SIP abacus

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि अन्य अंगों को शामिल करने के लिए, बस सांस के लक्षणों के आधार पर हल्के, मध्यम और गंभीर श्रेणियों में मामलों के वर्गीकरण पर फिर से विचार करने की जरूरत है. एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा, ‘ चूंकि हमने कोविड-19 के बारे में अधिकाधिक जाना है, तो ऐसे में हमने अहसास किया है कि यह फेफड़े पर भी अपना प्रभाव दिखाता है. यह मूल तथ्य है कि यह वायरस एसीई 2रिसेप्टर से कोशिका में प्रवेश करता है इसलिए श्वासनली और फेफड़े में वह बड़ी मात्रा में होता है लेकिन वह अन्य अंगो में भी मौजूद होता है और इस तरह अन्य अंग भी प्रभावित होते हैं.’

Sanjeevani
MDLM

इसे भी पढ़ेंः शिक्षाविदों ने पीएम को लिखा पत्र, कहा- JEE-NEET एग्जाम में और देरी हुई तो छात्रों का भविष्य होगा प्रभावित

उन्होंने बताया कि,  हमने कई ऐसे मरीज देखे हैं जिसमें फेफड़े की कम बल्कि अन्य अंगों की अधिक परेशानी रही. विशेषज्ञों ने कई ऐसे उदारहण दिये जहां मरीज को बिना लक्षण वाला या हल्के कोविड वाला बताया गया लेकिन उनमें फेफड़े के बजाय अन्य जानलेवा परेशानियां थीं.

एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया, स्नायु विभाग के प्रमुख डॉ एम वी पद्मा श्रीवास्तव, हृदय चिकित्सा विज्ञान विभाग के प्रोफेसर डॉ. अंबुज राय, मेडिसीन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. नीरज निश्चल समेत संस्थान के विशेषज्ञों ने नीति आयोग के साथ मिलकर आयोजित अपने साप्ताहिक ‘नेशनल क्लीनिकल ग्राउंड राउंड्स’ में कोविड-19 का फेफड़े पर होने वाले संभावित जटिलताओं पर चर्चा की.

इसे भी पढ़ेंः नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय स्नातकोत्तर के मार्कशीट में अशुद्धि, विवि की खूब हो रही किरकिरी

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button