DhanbadJharkhand

PMCH : एड्स उपचार केंद्र में डॉक्टरों व पारा स्टाफ की कमी, मरीज करते हैं परहेज

Dhanbad : कोयलांचल में एड्स के मरीजों के उपचार के लिए संचालित एड्स उपचार केंद्र की चमक फीकी पड़ने लगी है. इस विभाग में इलाज करने वाले कर्मियों की संख्या घट गयी है जिसका नतीजा है कि मरीज भी यहां इलाज करवाने से कतराने लगे हैं.

Jharkhand Rai

कोयलांचल में एड्स मरीजों की बड़ी संख्या है. इसको ध्यान में रखते हुए 2010 में पीएमसीएच में एड्स उपचार केंद्र खोला गया था. यहां एड्स मरीजों की चिकित्सा के लिए अत्याधुनिक व्यवस्था है.

इसे भी पढ़ें : प्राइवेट प्रैक्टिस करनेवालों की सूची सरकार के पास, एसीबी जांच के बाद होगी कार्रवाई

1200 मरीज इलाज के लिए नहीं आते 

धीरे-धीरे यहां 2300 मरीज निबंधित हो गये. पर शुरू में जिस तरह से मरीज नियमित पहुंचते थे वह स्थिति बनी नहीं रही. संसाधनों व स्टाफ के अभाव में लोगों ने धीरे-धीरे इलाज के लिए आना कम कर दिया.

Samford

फिलहाल यहां 2000 से ज़्यादा मरीज निबंधित हैं लेकिन नियमित रूप से दवा लेने सिर्फ 800 के आसपास ही आते हैं.

इसे भी पढ़ें : तीन माह में राज्य से 45 प्रतिशत कुपोषण समाप्त करें, कुपोषण मुक्त पंचायत को एक लाख रुपये देने की घोषणा : मुख्यमंत्री

एक डॉक्टर, चार सहकर्मी

पीएमसीएच के एड्स उपचार केंद्र में अभी एक डॉक्टर और चार सहकर्मी कार्यरत हैं. इन्हीं पर शहर और आस-पास के मरीजों की जिम्मेदारी है. लंबा समय बीत जाने के बाद भी यंहा डॉक्टरो की संख्या नही बढ़ी.

यहां सीडी-4 काउंट मशीन का भी संचालन शुरू किया गया पर रख-रखाव के अभाव में इसकी स्थिति दयनीय है.

इसे भी पढ़ें : नवविवाहिता से गैंगरेप, हत्या की नीयत से पिटाई कर कुएं में धकेला

लोग भी इलाज के प्रति सजग नहीं

लेकिन लोग खुद अपने इलाज के प्रति सजग नहीं हैं. वे नियमित रूप से न दवा लेते हैं और न ही चिकित्सकीय जांच को पहुंचते हैं. स्थिति बिगडऩे पर उन्हें इलाज के लिए लाया जाता है. इस कारण कोयलांचल में बड़ी संख्या में एड्स मरीज असमय काल के गाल में भी समा रहे हैं.

किया जाता है जागरूक

समय-समय पर गैर सरकारी संगठनो के माध्यम से जागरूकता अभियान भी चलाया जाता हैं जिससे लोगो क़ो इस गंभीर बीमारी के प्रति सतर्क रहने  की सीख दी जाती है. जो लोग इस बीमारी से ग्रासित हैं उन्हे इलाज के लिए जागरूक किया जाता हैं.

इसे भी पढ़ें : बंगाल में सड़कों पर नमाज का विरोध, BJYM कार्यकर्ताओं ने रोड पर पढ़ी हनुमान चालीसा

 

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: