National

अहमदाबाद :  #Congress का सवाल, दौरा आधिकारिक नहीं, आखिर कौन कर रहा है नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम का आयोजन?

NewDelhi : आखिर किसके बुलावे पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप भारत आ रहे हैं? कांग्रेस पार्टी इस पर सवाल खड़े कर रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे को लेकर भारत में जोर शोर से तैयारी की जा रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति यहां आयोजित स्वागत कार्यक्रम को लेकर उत्साहित हैं और एक करोड़ लोगों के आने का दावा कर रहे हैं.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने विदेश मंत्रालय के उस बयान का हवाला दिया है जिसमें अहमदाबाद का कार्यक्रम किसी निजी संस्था के द्वारा आयोजित किये जाने की बात कही गयी है.

SIP abacus

MDLM
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : अपनी यात्रा से पहले #Trump ने कहा, भारत हमारे व्यापार को प्रभावित कर रहा है, मोदी के साथ करेंगे बात

मोदी सरकार को जवाब देना चाहिए

रणदीप सुरजेवाला का सवाल है कि नागरिक अभिनंदन समिति कौन है, इसके सदस्य कौन हैं? अगर डोनाल्ड ट्रंप को एक निजी संगठन द्वारा बुलाया जा रहा है तो गुजरात सरकार इतने करोड़ रुपये क्यों खर्च कर रही है?कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि मोदी सरकार को जवाब देना चाहिए कि अमेरिकी राष्ट्रपति को अहमदाबाद के इवेंट के लिए किसने बुलाया.

इसे भी पढ़ें : भारत की जनसंख्या की वजह से PM मोदी को फेसबुक फॉलोवर्स में बढ़त: ट्रंप

यह कोई आधिकारिक कार्यक्रम नहीं है

क्योंकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कहते हैं कि उन्हें नरेंद्र मोदी ने बुलाया है, लेकिन विदेश मंत्रालय कहता है कि यह कोई आधिकारिक कार्यक्रम नहीं है. कांग्रेस नेता ने दावा किया कि गुजरात सरकार तीन घंटे के इवेंट के लिए 120 करोड़ रुपये खर्च कर रही है. कहा कि विदेश नीति एक गंभीर विषय है, यह कोई इवेंट मैनेजमेंट का हिस्सा नहीं है.

जान लें कि अहमदाबाद में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के स्वागत में नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में होने वाले इस आयोजन में एक लाख से अधिक लोगों के शामिल होने की बात कही जा रही है.

गुरुवार को विदेश मंत्रालय की साप्ताहिक प्रेस वार्ता में रवीश कुमार ने कहा था कि अहमदाबाद के नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम में किसे बुलाना है, इसका फैसला विदेश मंत्रालय नहीं ले रहा है. रवीश कुमार के अनुसार इस कार्यक्रम का आयोजन डोनाल्ड ट्रंप अभिनंदन समिति के द्वारा किया जा रहा है. कार्यक्रम में किसे बुलाना है किसे नहीं बुलाना है, यह उनका निजी फैसला है.

इसे भी पढ़ें : केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का विवादित बयान, कहा-‘1947 में ही सभी मुस्लिमों को भेजा देना चाहिए था पाकिस्तान’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button