न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील : सीबीआई को उस कुत्ते की तलाश है, जिसे हड्डी दी गयी

भारतीय जांच एजेंसियां सीबीआई और ईडी अगस्ता वेस्टलैंड के सीनियर अधिकारियों व मिशेल, गुडो हैशके और कार्लो गेरोसा के बीच  हुई बातचीत को  डिकोड करने की कोशिश कर रही हैं.

1,160

NewDelhi : सीबीआई को उस कुत्ते की तलाश है, जिसे हड्डी दी गयी. खबरों के अनुसार अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टरों डील में कथित घूसखोरी के आरोपों की जांच कर रही ईडी और सीबीआई उस कुत्ते की तलाश कर रही है, जिसे हड्डी दी गयी. बता दें कि इस मामले में गिरफ्तार ब्रिटिश बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल ने अपने साथियों से बातचीत के क्रम में कुत्ते को हड्डी देने की बात कही थी. भारतीय जांच एजेंसियां सीबीआई  और ईडी अगस्ता वेस्टलैंड के सीनियर अधिकारियों व मिशेल, गुडो हैशके और कार्लो गेरोसा के बीच  हुई बातचीत को  डिकोड करने की कोशिश कर रही हैं.  द टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार यह बातचीत आठ फरवरी 2008 की है. बातचीत के क्रम में वीवीआईपी हेलिकॉप्टर डील में विभिन्न लोगों को शामिल करने की चर्चा हो रही थी. बताया गया है कि जिन लोगों को डील में शामिल करने की चर्चा की गयी, उनमें सीवीसी, डिफेंस सेक्रेटरी, रक्षा मंत्रालय में जॉइंट सेक्रेटरी (एयर), वायुसेना के मेंटेनेंस कमांड और हेलिकॉप्टरों की फ्लाइट इवैल्युएशन टीम शामिल थे.

भारतीय एजेंसियों को शक है कि इस बारे में एक नोट मिशेल ने लिखा. सूत्रों के अनुसार  नोट में जीएच (गुडो हैशके) को लंच के लिए शुक्रिया अदा किया गया.  साथ ही कहा गया, उम्मीद है कि कुत्ते को हड्डी पसंद आयी  होगी.  

 सौदे से जुड़ा भारत का कोई शख्स इस लंच में मौजूद था

 सीबीआई और ईडी एजेंसी को इस बात का शक है कि सौदे से जुड़ा भारत का कोई शख्स इस लंच में मौजूद था और उसका ही जिक्र कुत्ते के तौर पर इस नोट में किया गया.  गुडो हैशके पर आरोप है कि वह अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी के लिए त्यागी भाइयों (तत्कालीन वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी के कजिन) के जरिए गोलबंदी कर रहा था. यह भी शक है कि हैशके राजनेताओं, नौकरशाहों और रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के  संपर्क में भी था। सूत्रों के अनुसार नोट से पता चलता है कि मिशेल को इस बात की जानकारी थी कि हेलिकॉप्टरों की फ्लाइट इवैल्युएशन टीम अमेरिकी सिरोस्की एस92 और अगस्ता के एमडब्ल्यू 101 हेलिकॉप्टरों के मुआयने के बाद दिल्ली में 14 फरवरी को लौटेगी.  मिशेल ने अपने नोट में कहा है कि अगले दो महीने बेहद मुश्किल भरे होंगे और कंपटीशन में बने रहने के लिए यही मौका है. बता दें क्रिश्‍च‍ियन मिशेल के एक पत्र से चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. इस पत्र में मिशेल ने दावा किया था कि उसकी पहुंच तत्कालीन यूपीए सरकार की संवेदनशील बैठकों तक थी.  

मनमोहन सिंह की कैबिनेट के कुछ मंत्री उसके संपर्क में थे 

मनमोहन सिंह की कैबिनेट के कुछ मंत्री उसके संपर्क में थे.  वहीं, नौकरशाहों का एक बड़ा तबका भी मिशेल को जानकारियां साझा कर रहा था. सुरक्षा मामलों के लिए कैबिनेट कमेटी (सीसीएस) की बैठकों की भी जानकारी उसे मिलती रहती थी. इकनॉमिक टाइम्स के अनुसार 28 अगस्त, 2009 को मिशेल ने अगस्टा वेस्टलैंड के मालिक जी ओरसी को एक पत्र लिखा था;  इस पत्र में उसने दावा किया कि उसे अमेरिका की तत्कालीन सेक्रेटरीज ऑफ स्टेट हिलरी क्लिंटन और पीएम मनमोहन सिंह के बीच हुई गोपनीय बातचीत की जानकारी मिलती रहती है.  बता दें कि क्रिश्‍च‍ियन ने अपने पत्र  में 2009 में 19 से 23 जुलाई के बीच हुई हिलरी क्लिंटन और तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह के बीच हुई मीटिंग का जिक्र किया है. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: