न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अगस्ता वेस्टलैंड डील: बिचौलिये मिशेल को लाया गया भारत, डोभाल की निगरानी में सीक्रेट ऑपरेशन को दिया गया अंजाम

34

New Delhi: अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे में कथित बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को एक सीक्रेट मिशन के तहत संयुक्त अरब अमीरात से प्रत्यर्पित करके मंगलवार देर रात भारत लाया गया. सीबीआई ने यह जानकारी दी. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मिशेल को लेकर आ रहा गल्फस्ट्रीम का एक विमान रात दस बजकर 35 मिनट पर इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उतरा. एयरपोर्ट पर दो घंटे की कागजी कार्रवाई के बाद उसे सीबीआई हेडक्वार्टर ले जाया गया. बुधवार को मिशेल से पूछताछ होगी, साथ ही उसे कोर्ट में पेश किया जायेगा.

सीक्रेट ऑपरेशन को अजील डोभाल कर रहे थे मॉनिटर

सीबीआई प्रवक्ता ने बताया कि इस अभियान का कूट नाम ‘यूनिकॉर्न’ था. इस अभियान को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के दिशानिर्देश में चलाया गया. और वो खुद सीबीआई के अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव को को-ऑडिनेट कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि एजेंसी के संयुक्त निदेशक साई मनोहर के नेतृत्व में अधिकारियों की एक टीम मिशेल को लाने के लिए दुबई गई थी. एजेंसी ने बताया कि प्रत्यर्पण की प्रक्रिया पूरी करने के बाद मिशेल को भारत वापस लाया गया. दुबई सरकार ने उसे प्रत्यर्पित करने की मंजूरी दे दी थी. इससे पहले इस कदम के खिलाफ की गई उसकी अपील को वहां की एक अदालत ने खारिज कर दिया था.

सत्तारूढ़ भाजपा ने गांधी परिवार का जिक्र करते हुए कहा कि संप्रग काल के एक मामले में प्रत्यर्पण भारत के लिए कूटनीतिक जीत है और इससे कांग्रेस के ‘प्रथम परिवार’ के लिए ‘‘बड़ी मुसीबत’’ पैदा हो सकती है. उसने कहा कि यह घटना भ्रष्टाचार से लड़ने में नरेंद्र मोदी सरकार की गंभीरता को स्पष्ट तौर पर दर्शाती है.

रेड कॉर्नर नोटिस के बाद हुई थी गिरफ्तारी

सीबीआई प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने बताया कि हेलीकॉप्टर घोटाले में अगस्ता वेस्टलैंड को ठेका दिलाने और भारतीय अधिकारियों को गैरकानूनी कमीशन या रिश्वत का भुगतान करने के लिए बिचौलिए के तौर पर मिशेल की संलिप्तता 2012 में सामने आई. उन्होंने बताया कि मिशेल जांच के लिए वांटेड था, लेकिन वह फरार हो गया और जांच में शामिल होने से बच रहा था. उसके खिलाफ पिछले साल सितंबर में आरोपपत्र दायर किया गया.

ज्ञात हो की नयी दिल्ली के पटियाला हाउस में सीबीआई मामलों के विशेष न्यायाधीश ने 24 सितंबर 2015 की तिथि वाला खुला गैर जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया.  सीबीआई प्रवक्ता ने बताया कि इस वारंट के आधार पर इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया, जिसके बाद फरवरी 2017 में उसे दुबई में गिरफ्तार कर लिया गया. मिशेल (57) दुबई में अपनी गिरफ्तारी के बाद से जेल में था.

Related Posts

#MultiPurposeIDCard: आधार, DL, वोटर ID सब के लिए एक ही कार्ड- अमित शाह ने दिया प्रस्ताव

2021 की जनगणना होगी डिजिटल, मोबाइल एप के जरिये जुटाये जायेंगे आंकड़ें

क्या है अगस्ता वेस्टलैंड डील

3600 करोड़ के अगस्ता वेस्टलैंड डील को लेकर देश के शीर्ष राजनीतिक नेतृत्व पर सवाल उठते रहे हैं. इस मामले में खासतौर पर कांग्रेस की सीनियर लीडरशिप पर आरोप लगते रहे हैं. हालांकि, क्रिश्चियन मिशेल चॉपर डील में कांग्रेस नेतृत्व के शामिल होने की बात से इनकार करता रहा है.

आरोप है कि मिशेल ने सह-आरोपियों के साथ मिलकर आपराधिक षड्यंत्र रचा. सह आरोपी में तत्कालीन वायुसेना प्रमुख एस पी त्यागी और उनके परिवार के सदस्य शामिल हैं. षड्यंत्र के तहत लोक सेवकों ने वीवीआईपी हेलीकॉप्टर की उड़ान भरने की ऊंचाई 6000 मीटर से घटाकर 4500 मीटर कर अपने सरकारी पद का दुरुपयोग किया. भारत सरकार ने आठ फरवरी 2010 को रक्षा मंत्रालय के जरिए ब्रिटेन की अगस्तावेस्टलैंड इंटरनेशनल लि़ को लगभग 55.62 करोड़ यूरो का ठेका दिया था.

प्रवक्ता ने एक बयान में कहा कि मिशेल अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर्स का ‘‘ऐतिहासिक परामर्शदाता’’ बताया जाता है जिसे हेलीकॉप्टर, सैन्य अड्डों और पायलटों की तकनीकी संचालनात्मक जानकारी थी.

इसे भी पढ़ेंःनक्शा पास करने को लेकर आरआरडीए और जिला परिषद आमने-सामने

इसे भी पढ़ेंःकड़ाके की ठंड में गरीबों को नहीं मिलेगा कंबल, जिलों में कंबल का…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: