DeogharJharkhand

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने उत्क्रमित उच्च विद्यालय में भवन निर्माण का किया शिलान्यास

Deoghar : शनिवार को सूबे के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख जिले के सारवां प्रखंड के जियाखाड़ा पंचायत मुख्यालय के उत्क्रमित उच्च विद्यालय में करीब 80 लाख की लागत से बनने वाले दस कमरों का बनाने वाले भवन निर्माण का शिलान्यास किया. शिलापट से पर्दा हटा के पूर्व उन्होंने नारियल फोड़ के लिए अन्य नेता व वरिष्ठ कार्यकर्ता व ग्रामीणों को आमंत्रित कर नई परंपरा की शुरुआत की. भवन निर्माण का काम स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की ओर से किया जाएगा.

अपने संबोधन में कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार शिक्षा व्यवस्था को मजबूत करने में तेजी से काम कर रही है. मुख्यमंत्री हेमंत कुमार भी शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के चिंतित हैं और विकास के कई कार्य किए जा रहे हैं. कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडेय के निर्देश पर जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित कर समस्याओं का समाधान ऑन द स्पॉट या पार्टी नेता व कार्यकर्ताओं विभागीय अधिकारियों संपर्क कर समस्याओं को हल करने की नई परंपरा की शुरुआत की है.

इसे भी पढ़ें:बिहार में लोक प्रशासन में उत्कृष्ट कार्यों के लिए 24 जिलों के डीएम को मिलेगा पुरस्कार

ram janam hospital
Catalyst IAS

आगे उन्होंने कहा कि जियाखाड़ा उत्क्रमित उच्च विद्यालय भवन दस कमरों वाला और दो मंजिला होगा. साथ ही आने वाले समय में यह विद्यालय प्लस टू भी विद्यालय होगा.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना काल से निपटते हुए राज्य को शिक्षा सहित अन्य मामलों में आगे ले जाने के लिए प्रयासरत है.

सरकार की योजनाएं धरातल पर नजर आनी शुरू हो गई है. तमाम विपरीत परिस्थितियों से निपटते हुए झारखंड सरकार योजनाओं को अमली जामा पहनाने में जूटी हुई है.

सरकार गठन के बाद ही किसानों की चिंता करते हुए कर्ज माफी की गई और पूनः बैंक से कर्ज दिलाने का काम किया गया. ऐसा पहली बार झारखंड में हुआ है. राज्य में 9 लाख से अधिक किसानों का कर्ज माफ करना है.

इसे भी पढ़ें:बैडमिंटन खिलाड़ी अरबाज को पप्पू यादव ने की 1.80 लाख रुपये की सहायता देने की बात कही

उन्होंने पूर्व की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा विरासत में हमें खाली खजाना मिला था. लेकिन सरकार बेहतर प्रबंधन के बल पर नया झारखंड बनाने में जूटी हूई है.

उन्होंने विकास कार्य को लेकर अफवाह गैंग के आरोप निराधार बताते हुए कहा कि जरमुंडी विधानसभा क्षेत्र में विकास के कई कार्य हुए हैं और द्रूतगति से जनसमस्याओं को हल करने का काम किया जा रहा है.

क्षेत्र के किसान कृषि विभाग द्वारा.निर्मित तालाब के पानी से अपनी खेतों में फसल की अच्छा उत्पादन कर आर्थिक रूप से मजबूत हो रहे हैं.

इसे भी पढ़ें:Ranchi में मजबूत हो रहा है अफीम का टेरर कनेक्शन! बुंडू, तमाड़, नामकुम, सोनाहातू और राहे इलाकों में हो रही खेती

कांग्रेस, झामुमो, राजद गठबंधन वाली राज्य सरकार ने झारखंड वासियों की चिंता करते सर्वजन पेंशन योजना के तहत सबों को पेंशन योजना का लाभ देने का काम किया है. जिसके तहत राज्य में अब तक 13 लाख लोगों के पेंशन की स्विकृत प्रदान की गई है.

जिससे बजट में 130 करोड़ का अतिरिक्त बोझ आएगा. उन्होंने कहा गाय वितरण योजना को संशोधित कर सरल बनाया जाएगा.

राज्य के किसानों को पहली बार समय पर खाद, बीज देने, डेयरी उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए गौपालन करने वाले किसानों को 1 रुपया प्रति लीटर अतिरिक्त प्रोत्साहन के रूप सरकार अपनी ओर दे रही है, जो पहले नहीं हुआ है. ई श्रम कार्ड बनाने वाले ग्रामीणों के 2 बच्चों को आने वाले समय में 15-15 हजार रुपया शिक्षा के लिए मिलेगा.

इसे भी पढ़ें:देश भर में पान मसाला, गुटखा और चबाने वाले तंबाकू उत्पादों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की उठी मांग

सरकार ने आउटसोर्सिंग में 75 प्रतिशत स्थानीय को प्राथमिकता देने का निर्देश दिया है. अपने संबोधन के दौरान उन्होंने लोगों को सरस्वती पूजा की शुभकामना दी.

मौके पर कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष उपेंद्र राय, फारुख अंसारी, मुखिया प्रतिनिधि लालू मिश्रा, शयामू मिश्रा, दीपक झा, जावेद अंसारी, नाजीर अंसारी, शफीक अंसारी, मो रुस्तम, रंजीत यादव, मदन राय, रघुनंदन प्रसाद वर्मा, सुरेश वर्मा, परशुराम वर्मा, ब्रहमदेव वर्मा, मुबारक अंसारी, राजकुमार यादव, बिनोद वर्मा, सुबोध कुमार राय, संजय दत्ता, अनिल राउत, श्रीकांत सिंह, चंदन वर्मा, सीताराम वर्मा, कार्तिक वर्मा, सफिउल मियां सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें:अफ्रीका में फंसे 6 मजदूर लौटे घर, सोशल मीडिया पर दी थी जानकारी

Related Articles

Back to top button