न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वर्ष 2013-14 में कृषि विकास 4.5% था, जबकि 2018-19 में यह ग्रोथ 14.29% है : मुख्यमंत्री

38

Dumka : वर्ष 2013-14 में कृषि विकास 4.5 प्रतिशत था, जबकि 2018-19 में यह ग्रोथ 14.29 प्रतिशत हो गया. यह हमारे किसानों की मेहनत का ही परिणाम है कि विगत चार वर्षों में कृषि विकास में लगभग 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. मैं इन किसानों से गौरवान्वित महसूस करता हूं. ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शनिवार को दुमका के जामा प्रखंड के मधुबन गांव में आयोजित कृषि समागम कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहीं. उन्होंने कहा कि सरकार का उद्देश्य प्रत्येक गरीब के चेहरे पर मुस्कान लाना है.

अर्थव्यवस्था की धुरी है कृषि

मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि अर्थव्यवस्था की धुरी है. आर्थिक विकास दर बढ़ानी है, तो कृषि का विकास नितांत आवश्यक है. कृषि खेती, बागवानी एवं पशुपालन तीनों का समन्वित रूप है. आज के वैश्विक युग में किसान को उन्नत बनाकर ही हम विकास कर सकते हैं. प्रधानमंत्री का भी यही उद्देश्य है कि 2022 तक किसानों की आय को दोगुना कर दिया जाये, ताकि सभी कृषक भाई और बहनें सशक्त बनें. कार्यक्रम में समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी, कृषि मंत्री रणधीर कुमार सिंह, कृषि सचिव पूजा सिंघल समेत अन्य कई अधिकारी मौजूद थे.

झारखंड की सब्जियों की मांग हर जगह है

रघुवर दास ने कहा कि झारखंड की सब्जी की मांग हर जगह है. किसान अधिक से अधिक सब्जियों का उत्पादन करें, उन्हें बाजार की चिंता नहीं करनी है. निर्यातक उद्यमी अब्दुल हमीद के अनुभव का लाभ लेते हुए उन्हें सब्जियों के निर्यात उपलब्ध कराने के लिए सरकार पहल करेगी. झारखंड की सब्जी देश के साथ-साथ विदेशों में भी निर्यात की जाये, ऐसा प्रयास किया जायेगा.

कृषि हेल्पलाइन पर फोन कर सहायता प्राप्त करें

मुख्यमंत्री ने कृषकों को 29 एवं 30 नवंबर को होनेवाले विश्व एग्री फूड समिट के लिए आमंत्रित करते हुए कहा कि आप सभी राज्य सरकार के आमंत्रण पर अवश्य आयें. इस समिट में सात देश के डेलिगेट्स आ रहे हैं. कृषि संबंधी उपकरणों की प्रदर्शनी की जायेगी. निश्चित ही एग्रो समिट से आप कृषक लाभान्वित होंगे. संतालपरगना में कृषि को बढ़ावा देना अत्यंत आवश्यक है. उन्होंने कहा कि संतालपरगना सुखाड़ प्रभावित है. यहां पूरा-पूरा सहयोग दिया जायेगा. आवश्यकता पड़ने पर कृषि हेल्पलाइन पर फोन कर आप आवश्यक सहायता प्राप्त कर सकते हैं.

युवा नौकरी मांगनेवाले नहीं, बल्कि नौकरी देनेवाले बनें

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज झारखंड में लगभग 400 करोड़ रुपये का दूध बाहर से आता है. हमारे युवा सेल्फ हेल्प ग्रुप के माध्यम से डेयरी फर्म बनायें. सरकार एक गाय पर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी देगी. गांव समृद्धशाली बनें. युवा नौकरी मांगनेवाले नहीं, बल्कि नौकरी देनेवाले बनें. संतालपरगना के हर घर में एक गाय आवश्यक है. उन्होंने कहा कि इसी क्रम में बेहतर संपर्क बनाने के लिए ई-सर्विस को ध्यानगत रखते हुए सरकार 28 लाख किसानों को नि:शुल्क मोबाइल देगी. जनवरी से मोबाइल बंटना आरंभ हो जायेगा. उन्होंने बताया कि कृषि तकनीक को बढ़ाने के उद्देश्य से किसानों को इजरायल भेजा गया था, जहां से वे कृषि की उन्नत तकनीक को सीखकर आये हैं.

एसएचजी के जरिये महिलाएं भी सुधार रही हैं अपनी आर्थिक स्थिति

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि आज महिलाएं सेल्फ हेल्प ग्रुप के माध्यम से आगे बढ़ रही हैं. अपनी आर्थिक स्थिति बेहतर कर रही हैं. ये महिलाएं स्वयं जागरूक हैं, वे समाज में जाकर अन्य महिलाओं को भी जागरूक करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि 2020 तक झारखंड में कोई बेघर नहीं रहेगा. सभी गरीबों को प्रधानमंत्री आवास अवश्य उपलब्ध करा दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें- विधायक ढुल्लू ने अपनी ही पार्टी के सांसद को कहा ‘उसका कैरेक्टर ढीला’, कमल संदेश के संपादक को कहा…

इसे भी पढ़ें- जेटेट पास अभ्यर्थियों के लिए सरकार ने निकाला विज्ञापन, सरकारी शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति पर लगी रोक

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: