न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कृषि विभाग ने बिना वित्त विभाग की अनुमति के पीएल खाते में डाल दिये 80 करोड़ रुपये

विधानसभा में झाविमो विधायक प्रदीप यादव ने उठाया था मामला

1,670

Ranchi: कृषि विभाग का एक और एक कारनामा सामने आया है. कृषि विभाग ने बिना वित्त विभाग के अनुमति के 80 करोड़ रुपये पीएल खाते में डाल दिये हैं. वित्त विभाग ने पीएल खाता में जमा की जानेवाली राशि को लेकर निर्देश जारी किया था कि पिछले वर्षों में यह देखा गया है कि आवश्यकता नहीं होने पर भी राशि खर्च होने से बचाने के लिए पीएल खाते में जमा कर दी जाती है. यह कदम वित्तीय दृष्टि से उचित नहीं है. अत: बेहतर वित्तीय प्रबंधन के दृष्टिकोण से यह निर्णय लिया गया है कि वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट में उपबंधित किसी भी राशि को योजना सह वित्त विभाग की अनुमति के बिना पीएल खाता में जमा नहीं किया जाये. बावजूद इसके कृषि विभाग ने पीएल खाते में 80 करोड़ रुपये जमा कर दिया. झाविमो विधायक प्रदीप यादव ने यह मामला विधानसभा में उठाया था.

80 करोड़ रुपये के बांटे जाने थे कृषि यंत्र

80 करोड़ रुपये से सखी मंडलों के बीच छोटे-छोटे कृषि यंत्र बांटे जाने थे. कृषि यंत्र सखी मंडलों के बीच बांटा जाना था. पीएल खाते में राशि डालने के लिए कैबिनेट से भी स्वीकृति नहीं ली गयी. संलेख के प्रारूप को भी बदल दिया गया. अब तक सखी मंडलों को कृषि यंत्र भी नहीं मिला है. दूसरे शब्दों में, एक तरफ सरकार किसानों की आय दोगुना करना चाहती है. दूसरी तरफ कृषि यंत्र पर भी आफत हो गयी है.

विधानसभा में प्रदीप यादव ने रखी थी बात

SMILE

विधानसभा में झाविमो विधायक ने पीएल खाते में बिना अनुमति के 80 करोड़ रुपये डाल देने की बात रखी थी. कहा था कि कृषि विभाग को वित्त सह योजना विभाग के निर्देश की परवाह नहीं है. इतनी बड़ी रकम को पीएल खाते में डाला जाना कहीं से भी उचित नहीं है. एक विभाग दूसरे विभाग के निर्देशों की अवहेलना कर रहा है. इसमें भारी गड़बड़ी के संकेत भी मिल रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः स्मार्टफोन पर म्यूजिक सुनना हो सकता है खतरनाक, एक अरब से अधिक लोगों को कम सुनाई देने का खतरा: यूएन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: