न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांडः पुलिस की गिरफ्त से दूर मुख्य आरोपी लोकेश चौधरी, कुर्की-जब्ती की तैयारी में पुलिस

6 मार्च की शाम साधना न्यूज चैनल के दफ्तर में हुई थी दोनों भाईयों की हत्या

1,136

Ranchi: अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड का मुख्य आरोपी लोकेश चौधरी अब भी रांची पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. लोकेश पर शिकंजा कसने के लिए पुलिस जल्द ही लोकेश चौधरी के हटिया स्थित घर में कुर्की जब्ती करने की कार्रवाई करेगी. बता दें कि 6 मार्च की शाम अरगोड़ा थाना क्षेत्र के अशोक नगर रोड नंबर 1 स्थित साधना न्यूज चैनल के कार्यालय में अग्रवाल बंधुओं की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

इसे भी पढ़ेंःअब होली के बाद शिबू सोरेन के सामने होगी महागठबंधन की सीट शेयरिंग की घोषणाः हेमंत

इस मामले में पुलिस ने लोकेश चौधरी के एक बॉडीगार्ड सुनील कुमार को गिरफ्तार किया है. जबकि लोकेश चौधरी, उसका बॉडीगार्ड धर्मेंद्र तिवारी और एमके सिंह अभी भी फरार है. उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस अलग-अलग जगहों लगातार छापेमारी कर रही है.

रुपये हड़पने की नीयत से हत्या

अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड में गिरफ्तार हुए लोकेश चौधरी के निजी बॉडीगार्ड सुनील कुमार ने पुलिस को बताया कि लोकेश चौधरी ने अग्रवाल ब्रदर्स से लाखों रुपए हड़पने की योजना बनाई थी. इस योजना के तहत लोकेश चौधरी ने एक साजिश के तहत दोनों भाई की हत्या कर दी. हत्या के बाद अब तक लोकेश चौधरी उसके निजी बॉडीगार्ड धर्मेंद्र तिवारी और एमके सिंह पुलिस के गिरफ्त से दूर है.

इसे भी पढ़ेंः जनवरी में ही HC ने खारिज की कुमार नीरज की बेल पिटीशन, अबतक नहीं हुए गिरफ्तार 

लोकेश चौधरी ने हेमंत अग्रवाल के सिर में मारी थी गोली

अग्रवाल ब्रदर्स और लोकेश चौधरी के बीच रुपयों के लेकर हुए विवाद के बाद हेमंत अग्रवाल रुपये बैग में रखकर भागने की फिराक में था. और लोकेश का रिवाल्वर भी छीनने का प्रयास किया. इस पर लोकेश ने हेमंत अग्रवाल के सिर में सटा कर एक गोली मार दी, जिससे मौके पर ही हेमंत अग्रवाल की मौत हो गई. बाद में महेंद्र अग्रवाल भी लोकेश से रिवाल्वर छीनने की कोशिश करने लगा तो धर्मेंद्र तिवारी ने महेंद्र अग्रवाल के सिर में सटा कर एक गोली मार दी. जिसके बाद महेंद्र अग्रवाल की भी मौत हो गई.

संभावित जगहों पर पुलिस की छापेमारी

लोकेश चौधरी, धर्मेंद्र तिवारी और एमके सिंह की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस लगातार संभावित जगहों पर छापेमारी कर रही है. लोकेश चौधरी के घर की कुर्की जब्ती के मामले पर हटिया डीएसपी ने कहा कि अगर लोकेश चौधरी एपियर नहीं होता है तो निश्चित तौर पर लोकेश चौधरी के घर की कुर्की जब्ती की जाएगी.

इसे भी पढ़ेंःलचर है झारखंड की बिजली व्यवस्था, 39 दिन में 2706 मेगावाट बिजली सरेंडर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: