न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड: पुलिस की गिरफ्त से बाहर लोकेश चौधरी, तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी

1,104

Ranchi: अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड का मुख्य आरोपी लोकेश चौधरी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. और उसकी तलाश में रांची पुलिस लगातार प्रयासरत है. बता दें कि 6 मार्च की शाम अरगोड़ा थाना क्षेत्र के पॉश कॉलोनी अशोक नगर रोड नंबर 1 स्थित साधना न्यूज़ के कार्यालय में अग्रवाल ब्रदर्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

इसे भी पढ़ेंःगिरिडीह लोकसभाः सांसद रविंद्र पांडेय, विधायक ढुल्लू महतो और संपादक शिवशक्ति बख्शी अब क्या करेंगे ?

इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी लोकेश चौधरी की गिरफ्तारी के लिए रांची सिटी एसपी के नेतृत्व में 5 अलग-अलग टीम का गठन किया है. जो लोकेश चौधरी की तलाश में संभावित जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है. वहीं रांची पुलिस ने लोकेश चौधरी की गिरफ्तारी के लिए रांची और पटना एयरपोर्ट पर भी पुलिस को अलर्ट कर दिया है. साथ ही मामले को लेकर बिहार पुलिस को भी इसकी सूचना दे दी गई है.

तीन अन्य लोगों के साथ ऑफिस से निकला था लोकेश- गार्ड

आरोपी लोकेश चौधरी

मिली जानकारी के अनुसार, साधना न्यूज के कार्यालय के बाहर तैनात गार्ड ने पुलिस को लोकेश चौधरी सहित तीन अन्य लोगों के एक साथ बाहर निकलने की जानकारी दी थी. वही बताया जा रहा है कि पटना में पुलिस की टीम के द्वारा छापेमारी के दौरान लोकेश चौधरी के ड्राइवर को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस हत्याकांड में शामिल लोगों के बारे में उससे पूछताछ कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड की जेलों का हालः 29 में से सिर्फ तीन कारागार में जेलर, बाकी असिस्टेंट जेलर या क्लर्क के भरोसे

लोकेश के साथ दोनों बॉडीगार्ड भी फरार

अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड के आरोपी लोकेश चौधरी के साथ उसके दोनों प्राइवेट एजेंसी बॉडीगार्ड भी फरार है. यह दोनों बॉडीगार्ड की एजेंसी के हैं, पुलिस इसकी जानकारी जुटा रही है. अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड के बाद पुलिस बंद पड़े साधना न्यूज के कार्यालय के आसपास के घरों में लगे सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाल रही है. साथ ही सभी मुख्य बिंदुओं को ध्यान में रखकर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

रुपये के विवाद में हत्या

मामले पर विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि लोकेश चौधरी और अग्रवाल ब्रदर्स के बीच पैसे का लेन-देन हुआ था. कई दिनों से अग्रवाल ब्रदर्स लोकेश से अपना पैसा वापस मांग रहे थे.लो केश हर बार पैसा लौटाने में बहानेबाजी करता था. पैसे को लेकर दोनों पक्षों में कई बार तू-तू मैं-मैं भी हुई है.

इसे भी पढ़ेंःरामगढ़ में ट्रक और कार के बीच सीधी टक्कर, 10 लोगों की मौत

बताया जा रहा है कि हेमंत और महेंद्र ने लोकेश से बुधवार की शाम को बात की. लोकेश ने उन दोनों को अशोक नगर के चैनल के कार्यालय में बुलाया. जिसके बाद से ही दोनों भाई गायब चल रहे थे. और गुरुवार को दोनों भाइयों के शव साधना न्यूज के कार्यालय से बरामद हुए.

इसे भी पढ़ेंःराज्य कर्मियों की तरफ से टीडीएस का ब्योरा नहीं दिये जाने से हो रहा है वेतन में विलंब

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: