Khas-KhabarMain SliderNationalNEWSTOP SLIDERWhat's NewWorld

ढाई महीने के बाद आमने-सामने होंगे भारत और चीन के मिलिट्री कमांडर, एलएसी में तनाव कम करने पर होगी चर्चा

New Delhi: ढाई महीने के बाद आज एक बार फिर से भारत और चीन के मिलिट्री कमांडर आमने- सामने होंगे. बता दें कि आज होने वाली ये बातचीत लद्दाख के एलएसी पर तनाव को कम करने के लिए होगी. ताजा हालातों पर नूर डालें तो फिलहाल दोनों ही देशों के हजारों जवान मई 2020 से ही एलसी पर डटे हुए हैं. XIV कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन और दक्षिण शिंजियांग मिलिस्ट्री क्षेत्र के कमांडर मेजर जनरल लियू लिन के बीच ये बैठक होगी. दोनों मिलिट्री कमांडर के बीच की ये बैठक एलएसी के पास चीन की तरफ के हिस्से में चुंशुल में होगी.

इसे भी पढ़ें-RBI Recruitment 2021: सिक्योरिटी गार्ड के लिए 241 पदों के लिए होगी भर्ती, जानिए कैसे कर सकते हैं आवेदन

भारत का ओर से भेजे गये मेमो पर हो रही है बातचीत

जानकारी के अनुसार ये बैठक भारत की तरफ से चीन को भेजे गए मेमो पर आए जवाब के बाद आयोजित की जा रही है. फिलहाल सीमा के दोनों तरफ करीब 50-50 हजार सैनिक तैनात हैं और ये कोशिश की जा रही है कि कोई अनहोनी ना हो. भारत ने हाल ही में दो चीनी सैनिकों को सीमा के पार पहुंचाया है, जो रास्ता भटक कर सीमा लांघ कर भारत में प्रवेश कर गये थे.

मई से ही सीमा पर है तनाव

विदेश मंत्रालय का एक प्रतिनिधि मंडल भी आज होने वाली इस बैठक का हिस्सा होगा. इसके साथ ही विदेश मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी नवीन श्रीवास्तव भी बैठक में मौजूद रहेंगे. बता दें इससे पहले मिलिट्री कमांडर्स के बीच 6 नवंबर को मुलाकात हुई थी. वहीं दोनों देशों के बीच आखिरी डिप्लोमेटिक बातचीत 18 दिसंबर को हुई थी।
मई में तनाव शुरू होने के बाद चीनी सेना एलएसी से करीब 8 किलोमीटर अंदर तक आ गयी थी और पूर्वी लद्दाख में कई जगह तंबू लगा लिए थे. भारत की ओर से विरोध के बावजूद चीनी सेना पीछे नहीं हटी और दोनों ही देशों की सेनाओं ने अतिरिक्त सैन्य बल सीमा पर तैनात कर दिया. साथ ही टैंक, आर्टिलरी और हवाई हमला करने की भी पूरी तैयारी सीमा पर होने लगी थी.

इसे भी पढ़ें-  जानें, शिखर धवन ने वाराणसी में ऐसा क्या कर दिया कि स्थानीय प्रशासन ने कार्रवाई करने का ठान ली

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: