Education & CareerJharkhandLead NewsRanchi

तीसरे राउंड की काउंसलिंग के बाद IIT-ISM धनबाद का क्रेज बरकरार, सीएस ब्रांच में एडमिशन के लिए 84 स्टूडेंट्स कर रहे इंतजार

Ranchi : देश की तमाम आईआईटी सहित धनबाद स्थित आईआईटी-आईएसएम में एडमिशन के लिए तीसरे राउंड की प्रक्रिया समाप्त हो चुकी है. इसके बाद भी यहां एडमिशन का क्रेज बरकरार है. इस क्रेज का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कम्प्यूटर साइंस सहित सात अन्य ब्रांच में एडमिशन के लिए एक सीट पर औसतन छह से नौ स्टूडेंट्स दावेदारी किये हुए हैं.

इसे भी पढ़ें : Big News: एक अप्रैल से DRDA का अस्तित्व खत्म, आदेश जारी, दावा-नहीं जायेगी  किसी की नौकरी

केवल कम्प्यूटर साइंस की बात करें तो इस ब्रांच के 195 सीट में एडमिशन के लिए 84 स्टूडेंट्स वेटिंग में हैं. इसके अलावा माइनिंग, मैकेनिकल, इसीएस जैसे ब्रांच में भी एडमिशन की वेटिंग चल रही है. इस बार आईएसएम ने आईआईटी भुवनेश्वर को पीछे छोड़ दिया है. सीट आवंटन की प्रक्रिया इस बार छह राउंड तक निर्धारित है, इसलिए भी स्टूडेंट्स वेटिंग में भी रहने को तैयार हैं. एक्सपर्ट्स का मानना है कि प्रत्येक राउंड की काउंसलिंग के बाद सीटें अपग्रेड होती हैं जिससे एडमिशन की संभावना बनती है. इसलिए स्टूडेंट्स मनचाहे ब्रांच में एडमिशन के लिए इंतजार कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : Jharkhand: पारा शिक्षकों के भविष्य पर फैसला आज, 15 नवंबर से रांची में महाजुटान की दी है चेतावनी

कम्प्यूटर साइंस सबसे ज्यादा डिमांड में

आईआईटी-आईएसएम में लगातार कम्प्यूटर साइंस की डिमांड बढ़ती जा रही है. 2019 के बाद संस्थान को टॉपर्स छात्र अधिक पसंद करने लगे हैं. शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के दौरान संस्थान का ऑपनिंग कम्प्यूटर साइंस में ही 1296 था. वहीं वर्ष 2019 में 1619 था. इस वर्ष तीसरे राउंड के सीट आवंटन के बाद 907 पर आ गया है. दरअसल इसके पीछे जानकार प्लेसमेंट को एक प्रमुख कारण बता रहे हैं. 2020-21 में बेहतर प्लेसमेंट का रिकार्ड बना है. इस दौरान सर्वाधिक पैकेज 90 लाख रुपये था. इसके बाद एक छात्र को 81 लाख का पैकेज मिला. जबकि एक दर्जन से भी अधिक छात्रों को 54 लाख पैकेज का आफर मिला.

तीसरे राउंड की काउंसलिंग में ओपन और क्लोजिंग रैंक

विषय ऑपनिंग  क्लोजिंग
केमिकल इंजीनियरिंग 7476 8873
सिविल इंजीनियरिंग 6933 9510
कम्प्यूटर साइंस 907 2846
इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग 3674 6101
इलेक्ट्रानिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग 2877 4542
इंजीनियरिंग इन फिजिक्स 5353 8644
पर्यावरण इंजीनियरिंग 10351 12250
मैथ एंड कंप्यूटिंग 2837 4056
मैकेनिकल इंजीनियरिंग 5756 7784
मिनरल एंड मेटेलरर्जी इंजीनियरिंग 8936 11440
माइनिंग इंजीनियरिंग 7740 11684
माइनिंग मशीनरी इंजीनियरिंग 8876 12408
पेट्रोलियम इंजीनियरिंग 7321 10453
अप्लाईड जियोलॉजी इंजीनियरिंग 12412 12607
अप्लाईड जियोफिजिक्स इंजीनियरिंग 10820 12564

इसे भी पढ़ें : Jharkhand: पारा शिक्षकों के भविष्य पर फैसला आज, 15 नवंबर से रांची में महाजुटान की दी है चेतावनी

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button