Fashion/Film/T.VLead NewsOFFBEAT

बाहुबली 2 की सफलता के बाद प्रभास से शादी के लिए देश विदेश से आये थे 6000 रिश्ते

जन्मदिन पर विशेष

Naveen Sharma

Ranchi :  भारतीय सिनेमा की सबसे महंगी और बॉक्स ऑफिस पर सबसे अधिक कमाई करनेवाली फिल्मों बाहुबली और बाहुबली2 के नायक प्रभास ने फिल्म संसार में व्यापक प्रभाव डाला है. एक साल के अंतराल में आई इन दोनों फिल्मों ने भारतीय दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया था.

advt

बाहुबली द बिगनिंग व कंक्लूजन

बाहुबली द बिगनिंग एक काल्पनिक साम्राज्य की कथा है.यह एक भव्य फिल्म थी. बॉलीवुड ने पहली बार बेहतरीन vfx स्पेशल इफेक्ट में हॉलीवुड की समकालीन फिल्मों को पछाड़ दिया था. बाहुबली की भव्यता और खासकर युद्ध दृश्य हॉलीवुड की आलटाइम ग्रेट फिल्म Troy की याद दिला देते हैं. पहली फिल्म हर लिहाज से 2 से बेहतर थी.

जहां तक अभिनय की बात है तो बाहुबली बने प्रभास, भल्लालदेव बने राणा दुगाबती, कट्टपा, राजमाता और नायिका ने अपने रोल एक बार फिर बखूबी निभाए हैं. प्रभाष और राणा युद्ध के दृश्यों में जमते हैं. इन दोनों की आकर्षक बॉडी एक्शन दृश्यों को विश्वनीय बनाती है. फिल्म के अंत में इन दोनों की जबरदस्त लड़ाई को दर्शक मंत्रमुग्ध होकर बिना पलक झपकाए देखते हैं. युद्ध दृश्यों में पहली फिल्म ज्यादा बेहतर थी.

वैसे बाहुबली2 के छप्पर फाड़ बिजनेस में भी बाहुबली द बिगनिंग के क्लामेक्स का ज्यादा हाथ है फिल्म के अंत में कट्टप्पा बाहुबली को मार देता है. क्यों मारा यही स्पेंस साल भर.से अधिक समय बना रहा लोग इसे जानने को बेताब थे इसलिए शो हाऊस फुल गये.

इसे भी पढ़ें :JHARKHAND : पंचायत चुनाव को लेकर जोड़े गये नये प्रावधान, उम्मीदवार जान लें नहीं तो भुगतना होगा परिणाम

बाहुबली करने के लिए 4 साल लगा दिये

प्रभास कहते हैं कि राजामौली और मैंने 4 साल फ़िल्म बाहुबली के लिए समर्पित किये. इस तरह की अगर परियोजना हो तो मै सात साल भी अपने आप को समर्पित करने के लिए तैयार हूँ.मेरा सपना एक पौराणिक युद्ध पर आधारित फिल्म में अभिनय करने का था, जोकि बाहुबली फिल्म की तुलना में बहुत छोटा सपना था.

भारतीय फ़िल्म की स्क्रीन पर बाहुबली सबसे बड़ी फ़िल्म है और इस तरह की फ़िल्म में काम करने का अवसर जीवनकाल में एक ही बार मिलता है और मैं भाग्यशाली हूँ कि मुझे इस तरह का अवसर प्राप्त हुआ.

इसे भी पढ़ें :T20 World Cup :  टीम इंडिया के मेंटोर DHONI के रोल पर सुनील गावस्कर ने ये क्या कह डाला

जीवन का सफर

23 अक्टूबर 1979 को तमिलनाडु के मद्रास शहर में प्रभास का जन्म हुआ. उनका जन्म फिल्म निर्माता उप्पालापाटि सूर्यनारायण राजू और शिवा कुमारी के घर में हुआ. प्रभास के एक बड़े भाई है प्रमोद उप्पालापाटि और एक बड़ी बहन प्रगति उप्पालापाटि . प्रभास अपने भाई बहनों मैं सबसे छोटे हैं इसीलिए वो सबके लाड़ले भी हैं .

प्रभास के चाचा कृष्णम राजू उप्पालापाटि वो भी एक तेलगु फिल्मों के फेमस एक्टर हैं. उन्होंने अपनी पढाई DNR स्कूल से पूरी की और ग्रेजुएशन श्री चैतन्या कॉलेज, हैदराबाद से B.Tech की डिग्री ली . प्रभास बचपन से ही खेल और पढाई दोनों में अव्वल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :दिवाली पर सिर्फ 500 रुपये में जिओफोन नेक्सट देगी Reliance Jio, जानें कैसे करें बुकिंग

फिल्मों का सफरनामा

प्रभास ने 2002 में ईश्वर के साथ अपना फिल्म कैरियर शुरू किया था. 2003 में, वह राघवेन्द्र में अग्रणी भूमिका में थे. 2004 में वे वर्धन में दिखाई दिए. 2005 में उन्होंने एस एस राजमौली द्वारा निर्देशित फिल्म छत्रपति में अभिनय किया था. जिसमें उन्होंने गुंडों द्वारा शोषित एक शरणार्थी की भूमिका निभाई. ये फिल्म सुपरहिट रही. बाद में उन्होंने पौरनामी, योगी और मुन्ना में अभिनय किया.

इसे भी पढ़ें :UP की योगी सरकार का फरमान, फैजाबाद जंक्शन का अब ‘अयोध्या कैंट’ होगा नया नाम

दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी कमाई करने वाली फिल्म

इसके बाद 2015 में वे एस.एस. राजमौली के महाकाव्य बाहुबली: द बिगिनिंग में शिवुडु / महेन्द्र बाहुबली और अमरेन्द्र बाहुबली के रूप में दिखाई दिए. यह फिल्म दुनिया भर में तीसरी सबसे बड़ी कमाई करने वाली फिल्म बनी थी. दुनिया भर में आलोचकों और व्यावसायिक प्रशंसा की गई है.

बाहुबली की अगली कड़ी: बाहुबली: द कन्क्लूजन 28 अप्रैल 2017 को दुनिया भर में रिलीज हुई. बाहुबली 2 की सफलता के बाद प्रभास के घर शादी के रिश्ते के लिए देश विदेश से कुल 6000 रिश्ते आए. बाहुबली 2 इंडियन फिल्म इंडस्ट्री की सबसे सफल फिल्म साबित हुई. बाहुबली की भूमिका पर पूरा फोकस रखने के लिए प्रभास ने 5 साल तक एक भी फिल्म साईन नहीं की थी.

इसे भी पढ़ें :हटिया स्टेशन पर मिले 55 कोरोना पॉजिटिव, एक मरीज रिम्स में एडमिट

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: