न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राशिद गाजी के मारे जाने के बाद अबू बकर जैश-ए-मोहम्मद का नया कमांडर !  

जानकारी के अनुसार अबू बकर को अफगान लड़ाकों के साथ ट्रेनिंग मिली है.  सूत्रों के अनुसार  पिछले साल जुलाई में अबू बकर ने पाक अधिकृत कश्मीर के जरिए घुसपैठ की थी.

50

NewDelhi : पाक के संरक्षण में पल रहे संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड   राशिद गाज़ी के मारे जाने के बाद आईईडी एक्सपर्ट अबू बकर को नया कमांडर चुन लिया है. जानकारी के अनुसार अबू बकर को अफगान लड़ाकों के साथ ट्रेनिंग मिली है.  सूत्रों के अनुसार  पिछले साल जुलाई में अबू बकर ने पाक अधिकृत कश्मीर के जरिए घुसपैठ की थी.   सूत्रों ने बताया कि पाक अधिकृत कश्मीर के बोई, मदारपुर, फगोश और देवलियां  के ट्रेनिंग कैंपों में जैश-ए-मोहम्मद के दो दर्जन फ़िदायीन आतंकियों को ख़ास ट्रेनिंग दी जा रही है.  पाकिस्तानी सेना भारत में बड़े स्तर पर घुसपैठ कराने की फ़िराक में है. यही वजह है कि पाकिस्तान आर्मी पिछले दो दिनों में कई बार सीज़फायर का उल्लंघन कर चुकी है. इससे पता चलता है कि जैश का सरगना आतंकी मौलाना मसूद अजहर पुलवामा हमले के बाद भी शांत नहीं बैठा है. वह ऐसे फिदायीन तैयार कर रहा है, जो भारत में घुसकर फिर से आतंकी हमले को अंजाम दे सकें.

जम्मू कश्मीर में अलग-अलग संगठनों के 298 आतंकवादी मौजूद

बताया गया है कि जम्मू कश्मीर में अब भी अलग-अलग संगठनों के 298 आतंकवादी मौजूद हैं. सूत्रों की जानकारी के अनुसार कश्मीर घाटी में इस समय सबसे ज्यादा लश्कर के 80 पाकिस्तानी आतंकी और 55 स्थानीय आतंकी मौजूद हैं. इसके अलावा जैश-ए-मोहम्मद के 22 पाकिस्तानी आतंकी और 19 स्थानीय आतंकी कश्मीर में आज भी सक्रिय हैं. सूत्रों ने यह दावा किया है कि इस समय पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई हिज्बुल मुजाहिदीन के विदेशी और स्थानीय आतंकवादियों पर ऑपरेशन के लिए भरोसा नहीं कर रही है. हालांकि हिज्बुल के स्थानीय आतंकियों की संख्या कश्मीर में 102 है जो सबसे ज्यादा है. भारतीय सुरक्षा एजेंसियां लगातार इस बात पर माथापच्ची कर रही हैं कि इन आतंकवादियों का खात्मा कैसे किया जाये.

इसे भी पढ़ें :  भारत के एक्शन से डरा मसूद अजहर, ऑडियो संदेश में कहा- जैश ने नहीं किया पुलवामा हमला

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: