न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह के बाद भाजपा में तीन और सीटिंग सांसदों का कट सकता है पत्ता, अटकलें तेज

दो नये चेहरे को मिल सकता है टिकट

1,909

Deepak

Ranchi:  झारखंड की 14 लोकसभा सीटों में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गंठबंधन (राजग) ने भले ही सीटों का बंटवारा तय कर लिया है. पर सत्ता के गलियारों में यह अटकलें तेज हो गयी हैं कि गिरिडीह की तरह तीन और सीटिंग सांसदों को लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारी से हाथ धोना पड़ सकता है. लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा राज्य की 13 सीटों पर और सहयोगी दल आजसू पार्टी एक सीट पर चुनाव लड़ेगी. ऐसा 2014 के चुनाव परिणाम को फिर से दुहराने के मकसद से किया जा रहा है. 2014 में भाजपा की झोली में झारखंड से 12 सीटें आयी थीं.

इसे भी पढ़ेंः बिहारः एनडीए में हुआ लोकसभा सीटों का बंटवारा

भाजपा के तीन सांसद उम्मीदवारी से धो सकते हैं हाथ

इसबार इन सीटों में से दो पर नये चेहरे की उम्मीद है. धनबाद सीट पर दूसरे को टिकट देने की चर्चा गरम है. पार्टी सूत्रों का कहना है जिन तीन सांसदों को दुबारा टिकट नहीं मिलने की अधिक संभावनाएं हैं, उनमें रांची सीट से रामटहल चौधरी, पलामू से बीडी राम और धनबाद से पीएन सिंह हैं. रांची से रांची विश्वविद्यालय के कुलसचिव अमर चौधरी को टिकट देने का निर्णय पार्टी आलाकमान ले सकती है. यह माना जा रहा है कि महतो वोटरों पर इनकी पकड़ अच्छी है.

इसे भी पढेंः होली को लेकर राजधानी पुलिस सतर्क, शांति भंग करने वालों पर होगी कार्रवाई

राजबाला और तुबिद भी चर्चा में

वहीं पलामू सीट से भाजपा की तरफ से पूर्व मुख्य सचिव राजबाला वर्मा को दी जा सकती है. यह लगभग तय भी हो गया है. सिर्फ औपचारिकताएं बाकी रह गयी हैं. श्रीमती वर्मा के पति और झारखंड के पूर्व गृह सचिव जेबी तुबिद को फिर चाईबासा से लड़ाया जायेगा. यानी पति-पत्नी दोनों को लोकसभा चुनाव में उतारने की तैयारी है. चतरा से सांसद रहे सुनील सिंह को धनबाद से उतारने की तैयारी चल रही है. वहीं कोडरमा सीट से भाजपा के बिंदू भूषण दुबे को टिकट दिये जाने की चर्चा है. फिलहाल बिंदू भूषण दुबे दिल्ली में लॉबिंग कर रहे हैं. ये प्रधानमंत्री कार्यालय में प्रधान सचिव नृपेंद्र दुबे के करीबी माने जाते हैं. कोडरमा से पार्टी के सांसद रवींद्र राय हैं. पार्टी सूत्र बताते हैं कि चतरा से इस बार स्थानीय को टिकट देने की बातें चल रही हैं.

इसे भी पढ़ेंः महागठबंधन: अबतक के दावे हो सकते हैं फेल, पलामू और चतरा सीट बनी रोड़ा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: