न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

उपायुक्‍त के निर्देश के बाद सुदूरवर्ती गांव में आयोजित हुआ जनता दरबार

59

Gomia: गोमिया प्रखंड के सुदूर ग्रामीण क्षेत्र हुरलुंग पंचायत में गुरुवार को बोकारो उपायुक्त के निर्देश पर जनता दरबार का आयोजन किया गया. इस जनता दरबार में मुख्य रूप से प्रखंड प्रमुख गुलाबचंद्र हांसदा, अंचलाधिकारी यसवंत नायक सहित प्रखंड के कई पदाधिकारी उपस्थित थे. इस जनता दरबार में ग्रामीणों ने पेंशन, राशन कार्ड, प्रधानमंत्री आवास, ग्रामीण सड़क बनाने आदि के आवेदन सौंपे. जिसमें सबसे अधिक पेंशन से संबंधित 150 आवेदन आये और उसमें 50 आवेदनों का ऑन द स्पॉट निष्पादन किया गया. वहीं आवेदन को प्राथमिकता के साथ निष्पादन करने की बात कही गयी.

बिचौलिये कर रहे ठगी

इस दौरान एक ग्रामीण दुलारचंद ठाकुर ने जनता दरबार में बताया कि पंचायत में शौचालय निर्माण के लिए संबंधित एनजीओ के एक व्यक्ति द्वारा सत्तर हजार रुपये की ईंटें खरीदी गयी. लेकिन, उसका पेमेंट अभी तक नहीं हुआ है. इस बारे में संबंधित व्यक्ति से फोन पर संपर्क किया जाता है तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ बताया जा रहा है. इस पर सीओ जसवंत नायक ने आश्वस्त किया कि ईंटों के मद में बकाया का भुगतान कराने की कोशिश की जाएगी.

hosp3

विकास योजनाओं का सदुपयोग जरूरी

जनता दरबार में प्रखंड प्रमुख गुलाबचंद हांसदा ने कहा कि ग्रामीणों को बिचौलिए से सावधान रहने की जरूरत है और ग्रामीण अपना काम पंचायत सचिवालय या प्रखंड कार्यालय में आकर स्वयं करायें. उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गांव के विकास के लिए काफी कार्य किया जा रहा है. जिसका सदुपयोग होना जरूरी है. उन्होंने ग्रामीणों को अपने कार्य के प्रति जागरूक होने की बात कही. वहीं अंचलाधिकारी जसवंत नायक ने कहा कि सरकार ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए कृत संकल्प है और विकास योजनाओं को ग्रामीण क्षेत्रों में धरातल में उतारने के लिए ग्रामीणों की भी सहयोग की आवश्यकता है. उन्होंने ग्रामीणों से अपने हक व अधिकार के लिए जागरूक रहने की बात कही. इस दौरान स्वास्थ्य विभाग, प्रखंड बाल विकास परियोजना कार्यालय, श्रम विभाग आदि द्वारा स्टॉल भी लगाये गये थे. मौके पर जिला परिषद सदस्य बसंती देवी, सीआई सुरेश बरनवाल, मुखिया पूरण महतो, सीमा देवी आदि उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें: कोका-कोला के वाइस प्रेसीडेंट बोले- रांची का ही हूं मैं, सीएम ने कहा- झारखंड के सूपत हैं, कर्ज उतारें

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: