JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

विधानसभा सत्र के बाद झारखंड में लागू हो जाएगा नया लेबर वेज कोड, सुझाव के लिए पब्लिक डोमेन में डाली गयी है नियमावली

Akshay Kumar Jha

Ranchi: झारखंड के कामगारों के लिए खुशखबरी है. आगामी विधानसभा सत्र के बाद राज्य में नया लेबर वेज कोड लागू हो जाएगा. जिससे श्रमिकों को कई तरह का फायदा होगा. दैनिक भत्ता बढ़ने के अलावा ओवर टाइम करने पर ज्यादा मेहनताना और तमाम सुविधाएं मिलेगी. राज्य के लेबर डिपार्टमेंट ने इसके लिए सारी तैयारी पूरी कर ली है. विभाग की तरफ से गजट को तैयार कर लेबर डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर डाल दिया गया है. अब विभाग आम जनता से इस नियमावली को लेकर सुझाव मांग रहा है. यह चार तरह की नियमावली है. सुझाव आने के बाद नियमावली में जरूरी बदलाव कर इसे विधि, वित्त और कार्मिक विभाग को भेजा जाएगा. जिसके बाद विधानसभा में पारित होकर यह कानून में तबदील हो जाएगा. राज्य में लेबर यूनियन के प्रतिनिधि shramadhan.jharkhand.gov.in पर जाकर नियमावली को देख सकते हैं. अगर कोई नियमावली से संबंधित कोई सुझाव हो तो विभाग को [email protected]  पर दे सकते हैं.

advt

आखिर क्या है न्यू वेज कोड?

केंद्र सरकार ने 29 श्रम कानूनों को मिलाकर 4 नए वेतन कोड (New Wage Code) को तैयार किया है. इन 4 कोड में मजदूरी पर कोड, औद्योगिक संबंध पर कोड, व्यावसायिक सुरक्षा और स्वास्थ्य (OSH), सामाजिक सुरक्षा संहिता पर कोड शामिल हैं. साल 2019 के अनुसार, किसी भी कर्मचारी का मूल वेतन कंपनी की लागत (Cost to Company-CTC) के 50 फीसदी से कम नहीं हो सकता है. कई कंपनियां अपने बोझ को कम करने के लिए मूल वेतन में कटौती करती है और ऊपर से भत्ता देती है. जिससे कर्मचारियों को देखा जाए तो नुकसान होता है. न्यू वेज कोड के लागू होने से वेतन भोगियों की सैलरी स्ट्रक्चर में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा.

क्या होगा बदलाव

सैलरी स्ट्रक्चर में होगा बदलाव: New Wage Code, 2019 के लागू होने से सैलरीड लोगों के सैलरी स्ट्रक्चर यानी की टेक होम सैलरी पर असर पड़ेगा और पूरा बदल जाएगा. नए कोड के तहत भत्तों की सीमा 50% होगी यानी की बेसिक सैलरी को कुल वेतन का आधा रखा जाएगा. बेसिक सैलरी के बढ़ने से पीएफ ज्यादा कटेगा. जो हमारे भविष्य के लिए अच्छा होगा. क्योंकि पोस्ट रिटायरमेंट पूंजी के तौर पर ज्यादा रकम मिलेगी. इसके अलावा ग्रेच्युटी में योगदान भी बढ़ेगा. नया वेतन कोड असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए भी लागू होगा. इसके साथ ही, वेतन और बोनस से संबंधित नियम बदलते हुए हर उद्योग और क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के वेतन में एक समान होगी.

ड्राफ्ट तैयार है, सुझाव और आपत्तियों के लिए पब्लिक डोमेन पर डाला गया हैः ए मुथ्थु (लेबर कमिश्नर)

लेबर कोड तैयार हो चुका है. पब्लिकेशन से ड्राफ्ट पब्लिश भी करा लिया गया है. सुझाव और आपत्तियों को लिए चारों कोड को पबल्कि डोमेन में डाला गया है. जरूरी सुझावों को ड्राफ्ट में जोड़ कर इसे आगे भेज दी जाएगी.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: