Bihar Election 2020JharkhandRanchi

सुबोधकांत के बाद अब डॉ अजय कुमार को बिहार चुनाव में बड़ी जिम्मेवारी

विज्ञापन
  • बिहार चुनाव के लिए वार रूम के इनचार्ज बनाये गये पूर्व प्रदेश अध्यक्ष

Ranchi  :  करीब एक साल के पहले कांग्रेस के पूर्व झारखंड प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने कई नेताओं पर गंभीर आरोप लगाकर पार्टी छोड़ी थी. विधानसभा चुनाव के ठीक पहले पार्टी छोड़ने वाले ऐसे नेताओं को लेकर वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा था कि उनकी अब पार्टी में छह साल तक इंट्री नहीं होगी.

लेकिन प्रदेश नेता के बयानों से अलग एआइसीसी फिर से पुराने नेताओं को न केवल पार्टी में वापस ला रही है, बल्कि उन्हें कई महत्वपूर्ण जिम्मेवारियां भी सौंप रही हैं. बीते दिनों डॉ अजय कुमार को दोबारा पार्टी में शामिल करने के बाद अब एआइसीसी ने उन्हें बिहार चुनाव में एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी है. उन्हें बिहार चुनाव के लिए बनाये गये वार रूम का इंचार्ज नियुक्त किया गया है.

इसे भी पढ़ें – 2024 तक सभी घरों को नल से जल की योजना होगी पूरी : मिथिलेश ठाकुर

advt

सुबोधकांत के बाद दूसरे नेता, जिन्हें मिली है महत्वपूर्ण जिम्मेदारी 

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने इस बाबत गुरुवार को एक निर्देश भी जारी कर दिया है. वार रूम के लिए डॉ अजय के साथ दो कोऑर्डिनेटर सज़रिता लैतफंग (राष्ट्रीय मीडिया पैनलिस्ट) और नवीन शर्मा (एआइसीसी कोऑर्डिनेटर) नियुक्त किये गये हैं.

बिहार चुनाव में महत्वपूर्ण पद संभालने वाले डॉ अजय झारखंड के दूसरे नेता हैं. इससे पहले वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुबोधकांत सहाय को बिहार इलेक्शन के लिए इलेक्शन मैनेजमेंट एंड कोऑर्डिनेशन कमिटी का सदस्य नियुक्त किया था.

इसे भी पढ़ें –बारिश ने आंध्र प्रदेश-तेलंगाना में भारी तबाही मचायी, 31 लोगों की मौत, एनडीआरएफ, सेना ने मोरचा संभाला

कांग्रेस-आरजेडी गठबधंन को मिलेगा बिहार का समर्थन

न्यूज विंग से बातचीत में डॉ अजय कुमार ने कहा कि बिहार इलेक्शन में पार्टी की मजबूती उनका अगला टारगेट है. उन्हें जो जिम्मेवारी मिली है, उसका वे पूरी ईमानदारी से पालन करेंगे.

adv

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने जदयू-भाजपा गठबंधन सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि नीतीश राज में बिहार में बेरोजगार काफी बढ़ी है. आज हजारों लोग बिहार में शऱाबबंदी के झूठे आरोप में जेल मे बंद किये गये हैं. बिहार की जनता खुद को ठगा महसूस कर रही है. ऐसे में बिहार की जनता का कांग्रेस-आरजेडी गठबंधन को भारी समर्थन मिलेगा.

इसे भी पढ़ें –सेंसेक्स धड़ाम, 1066 अंक नीचे लुढ़का, निवेशकों के 3.3 लाख करोड़ डूबे

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button