न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्पेशल ब्रांच की रिपोर्ट के बाद लातेहार DC ने कहा BJP प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव की सुरक्षा के लिए हर वक्त तैयार

775

Ranchi: स्पेशल ब्रांच की एक रिर्पोट में भाजपा के प्रदेश शाहदेव पर कभी भी नक्सली हमला होने की आशंका जताई गयी है. रिर्पोट में ब्रांच की ओर से कहा गया है कि उग्रवादी संगठन भाकपा माओवादी के निशाने पर श्री शाहदेव हैं. लातेहार जिला के पुलिस अधीक्षक और रांची के वरीय पुलिस अधीक्षक को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है. स्पेशल ब्रांच ने प्रतुल शाहदेव की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने को कहा है. विशेषकर जब वह लातेहार के ग्रामीण नक्सली प्रभावित क्षेत्र का दौरा करते हैं.

हो सकता है जानलेवा हमला

ब्रांच ने अपनी रिर्पोट में स्पष्ट रूप से कहा कि शाहदेव के खिलाफ नक्सली हिंसात्मक कार्रवाई कर सकते हैं. सरकार के पक्ष में लगातार उग्रवादियों और सरकार विरोधी संगठनों के खिलाफ आक्रामक बयान देने के कारण ये उग्रवादी संगठनों के निशाने पर हैं. पिछले साल स्पेशल ब्रांच की रिपोर्ट के आलोक में ही मुख्यमंत्री सचिवालय ने भी इनकी सुरक्षा पर विशेष निर्देश जारी किए थे. स्पेशल ब्रांच की रिपोर्टों में यह भी स्पष्ट लिखा गया है कि पूर्व में इनके चचेरे भाई लाल संत नाथ शाहदेव की माओवादी उग्रवादियों द्वारा हत्या कर दी गई थी. संभावना व्यक्त की गयी है कि उनके खिलाफ किसी भी समय उग्रवादियों और क्षुब्ध संगठनों के द्वारा किसी अप्रिय घटना की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है.

hosp3

डीसी ने कहा प्रशासन हर वक्त तैयार

इस बारे में लातेहार डीसी ने न्यूज विंग से कहा कि जब कभी भी उनका दौरा लातेहार के लिए होता है, उन्हें सुरक्षा दी जाती है. उनके आने के मैसेज से थाना और बाकी सभी तंत्र अलर्ट हो जाते हैं. बस उनसे एक आग्राह है कि वो लातेहार आने से पहले हमें मैसेज कर दें. अगर वो यहां पहुंचकर या आधे रास्ते से हमें मैसेज करेंगे तो प्रशासन को उन्हें सुरक्षा देने में परेशानी होगी. पहले से मैसेज दे देने से जिला प्रशासन अपनी तैयारी पूरी कर सकेगा.

जाते रहते हैं ग्रामीण दौरों पर

शाहदेव लातेहार चंदवा प्रखंड के रौली गांव निवासी है. ऐसे में समय-समय पर वे अपने गांव समेत जिला के दौरे पर जाते रहते हैं. पूर्व में माओवादियों ने उनके परिजनों को गांव से विस्थापित कर दिया था. वर्तमान में शाहदेव अपने हरमू हाउसिंग कॉलोनी में रहते हैं. स्पेशल ब्रांच ने अपने पहले की रिपोर्टों में इस बात का भी उल्लेख किया है कि सीएनटी और एसपीटी पर जब बवाल मचा था तो सरकार की ओर से इन्होंने सबसे आक्रामकता से पक्ष रखा था. इसलिए इनसे सीएनटी-एसपीटी संशोधन का विरोध कर रहे संगठन भी लंबे समय से नाराज चल रहे हैं. स्पेशल ब्रांच ने राज्य पुलिस को प्रतुल शाहदेव की सुरक्षा पर विशेष ध्यान रखने का निर्देश दिया है.

इसे भी पढ़ेंःहरमू नदी सौंदर्यीकरण : 16 करोड़ से बने 8 सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट,

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: