न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#CAA पर कपिल सिब्बल के बाद सलमान खुर्शीद ने कहा, राज्य मना नहीं कर सकते, SC के फैसले का इंतजार करें

शनिवार को कपिल सिब्बल ने कहा था, जब CAA संसद से पारित हो चुका है तो कोई भी राज्य यह नहीं कह सकता कि मैं उसे लागू नहीं करूंगा.

74

NewDelhi : CAA को लेकर कांग्रेस के सीनियर नेता और दिग्गज वकील कपिल सिब्बल की बात का पूर्व विदेश मंत्री व पेशे से वकील सलमान खुर्शीद ने भी समर्थन किया है. जान लें कि शनिवार को कपिल सिब्बल ने कहा था, जब CAA संसद से पारित हो चुका है तो कोई भी राज्य यह नहीं कह सकता कि मैं उसे लागू नहीं करूंगा.

यह संभव नहीं है और असंवैधानिक है. विपक्षी दलों की सत्ता वाले राज्य नागरिकता संशोधन काननू (CAA)को लागू करने से इनकार कर रहे हैं, लेकिन इस बीच कांग्रेस के इन दो दिग्गज नेताओं ने कांग्रेस की परेशानी बढ़ा दी है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020


इसे भी पढ़ें :  #CAA: लखनऊ में प्रदर्शन जारी, पुलिस ने जब्त किया कंबल, अलीगढ़ में भी 70 महिलाओं पर FIR

संविधान का पालन करना होगा

पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने सिब्बल की बात का समर्थन करते हुए कहा कि जब तक ऐसे मामले में सुप्रीम कोर्ट दखल नहीं देता है, तब तक संविधान का पालन करना होगा अन्यथा इसके दुष्परिणाम होंगे. खुर्शीद ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला ही अंतिम होगा.

इस क्रम में सलमान खुर्शीद ने कहा, यदि राज्य और केंद्र सरकार के बीच किसी कानून को लेकर मतभेद होते हैं, जैसा कि नागरिकता संशोधन कानून पर हैं तो फिर अंतिम निर्णय के लिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना होगा.आखिर में सुप्रीम कोर्ट ही फैसला लेगा. कहा कि तब तक कोई भी चीज प्रोविजनल और तात्कालिक ही होगी.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

इसे भी पढ़ें :   साईं जन्मभूमि पर CM उद्धव के बयान के बाद बढ़ा बवाल, आज शिरडी बंद

आप CAA का विरोध कर सकते हैं…

इससे पहले केरल साहित्य उत्सव में सिब्बल ने कहा था कि आप CAA का विरोध कर सकते हैं, विधानसभा में प्रस्ताव पारित कर सकते हैं और केंद्र सरकार से CAA वापस लेने की मांग कर सकते हैं. लेकिन संवैधानिक रूप से यह कहना कि मैं इसे लागू नहीं करूंगा, अधिक समस्याएं पैदा कर सकता है.

इसे भी पढ़ें : #Two_Child_Policy पर मोहन भागवत की सफाई, मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा था कि सभी के दो बच्चे होने चाहिए…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like