Court NewsLead NewsNational

तलाक के बाद बच्चे को पिता से मिलने से रोक रही थी महिला, हाई कोर्ट ने दिया ये बड़ा फैसला

Bengluru : किसी दंपती में तलाक हो जाने के बाद बच्चों की कस्टडी को लेकर कई बार विवाद हो जाता है. इसकी वजह से कई बार इस तरह के मामले कोर्ट में चले जाते हैं. अब ताजा मामले में कर्नाटक हाई कोर्ट (Karnataka High Court) ने तलाकशुदा पति को अपने बच्चे से मिलने से मना कर रही मां से कहा है कि वो बच्चे को उसके पिता से मिलने दें.

कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई के दौरान बच्चे की मां से कहा, ‘भले ही माता-पिता का तलाक हो जाता है. लेकिन, उन दोनों से ही बच्चे का जन्म होता है. जब ऐसा है तो आप उन्हें मिलने से क्यों रोक रही हैं ? ‘

advt

इसे भी पढ़ें : रोहित के फैन पर नहीं होगी कार्रवाई, पीआर बांड पर छोड़ सकती है पुलिस

तलाकशुदा पति ने दायर की थी याचिका

न्यायमूर्ति बी. वीरप्पा की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने चेन्नई के एक तलाकशुदा पति की याचिका पर विचार करते हुए हाई कोर्ट ने कहा कि ‘आज के बच्चे ज्यादा समझदार होते हैं, उनमें माता-पिता को सलाह देने की क्षमता है.’ तलाकशुदा पति ने कोर्ट में अपने 12 साल के बेटे से मिलने की अनुमति देने का निर्देश देने की याचिका दायर की थी.

इसे भी पढ़ें : चक्रधरपुर : असामाजिक तत्वों ने एसडीओ के लिपिक की बाइक फूंकी, सीसीटीवी खोलेगा राज

बच्चे की मां की तरफ से दिया गया ये तर्क

पिता के वकील ने कोर्ट के में बताया कि मां अपने तलाकशुदा पति को बच्चे से मिलने नहीं दे रही है. वहीं, बच्चे की मां की ओर से पेश वकील ने कहा कि लड़का एसएसएलसी (क्लास 10) में पढ़ रहा है. इस महीने के लास्ट सप्ताह से उसके हाफ-इयरली एग्जाम शुरू होंगे. अगर उसने पिता से मिलने की अनुमति दी, तो उसकी पढ़ाई प्रभावित होगी.

आजकल के बच्चे काफी समझदार हैं- हाई कोर्ट

पीठ इस तर्क से सहमत नहीं हुई और कहा कि आजकल के बच्चे काफी समझदार हैं. इस तरह के तर्क की कोई गुंजाइश नहीं है. पीठ ने आगे आदेश दिया कि बच्चा अपनी आधी सर्दी और गर्मी की छुट्टियां अपने पिता के साथ बिता सकता है.

मां के वकील ने जताई आपत्ति

मां के वकील ने इस पर आपत्ति जताई और इस आदेश को पारित न करने की अपील की. महिला के वकील का कहना है कि पिता शादीशुदा है और उसका एक बच्चा है, इसलिए इस तरह का आदेश न दिया जाए. पीठ ने वकील को 24 नवंबर को बेटे को कोर्ट में लाने का निर्देश दिया. पीठ ने कहा कि देखते हैं कि बच्चा अपने पिता से यहां मिलने के बारे में क्या कहता है.

इसे भी पढ़ें : काव्य संकलन यह भोर सुहानी लगती है का लोकार्पण

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: