न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राहुल के बयान पर बोले कमलनाथः आम चुनाव में मिली हार के बाद मैंने की थी इस्तीफे की पेशकश

483

Bhopal: लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद से कांग्रेस में संकट का दौर जारी है. एक ओर राहुल गांधी अबतक अपने इस्तीफे की बात पर अड़े हैं. वहीं राज्यों में पार्टी अध्यक्षों द्वारा लोकसभा चुनाव में मिली हार की जिम्मेदारी नहीं लेने पर भी बहस छिड़ी हुई है.

इन सबके बीच, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार के बाद मैंने मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद से इस्तीफे की पेशकश की थी.

Sport House

इसे भी पढ़ेंःकेंद्र सरकार ने टाइम्स ऑफ इंडिया, द हिन्दू,टेलीग्राफ,आनंद बाजार पत्रिका में सरकारी विज्ञापन पर लगायी रोक

क्या कहा था राहुल ने

कमलनाथ का यह बयान लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की उस टिप्पणी के एक दिन बाद आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि मुझे इस बात का दुख है कि मेरे इस्तीफे के बाद किसी मुख्यमंत्री, महासचिव या प्रदेश अध्यक्ष ने हार की जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा नहीं दिया.

मैंने की थी इस्तीफे की पेशकश- कमलनाथ

लोकसभा चुनाव पर राहुल द्वारा दी गई इस टिप्पणी की ओर इशारा करते हुए एक कार्यक्रम के बाद मीडिया से कमलनाथ ने कहा, ‘‘मैंने मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार की जिम्मेदारी ली है. मैं नहीं जानता कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है, लेकिन मैंने पहले इस्तीफे की पेशकश की थी.’’

Related Posts

राज ठाकरे के बाद #Shiv_Sena ने भी कहा, बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों को बाहर निकाला जाना चाहिए

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी ने कहा, सावरकर और बालासाहेब के हिंदुत्व के मुद्दे को लेकर चलना बच्चों का खेल नहीं है.  फिर भी अगर कोई हिंदुत्व की बात कर रहा है तो हमारे पास उसका स्वागत करने की दिलदारी है.

Mayfair 2-1-2020

इसे भी पढ़ेंःकार्ड कहीं का बना हो, राशन मिलने में नहीं होगी असुविधा, ‘एक देश-एक राशन कार्ड’ की दिशा में काम कर रही केंद्र सरकार

उन्होंने कहा, ‘‘राहुल गांधी सही कह रहे हैं. बाकी नेताओं के बारे में नहीं पता, लेकिन मैं हार की जिम्मेदारी लेता हूं.’’

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव में मध्यप्रदेश में करारी हार के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी.

उन्होंने कहा, ‘‘कमलनाथ ने इस्तीफे की पेशकश करते हुए कहा था कि वह इस हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हैं.’’ इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मध्यप्रदेश में 29 सीटों में से मात्र एक सीट मिली थी. यह प्रदेश में अब तक कांग्रेस का सबसे खराब प्रदर्शन था.

इसे भी पढ़ेंःरांची जिले में 35131.65 एकड़ जमीन की हुई अवैध जमांबदी, 17488 मामले लंबित

SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like