न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तेजस्वी-तेज प्रताप के बीच शीतयुद्ध के बाद अब राजद नेता रघुवंश भी भड़के

529

Patna: राजद प्रमुख लालू प्रसाद के दोनों बेटों के बीच शीतयुद्ध के बाद अब पार्टी के पुराने नेता रघुवंश प्रसाद सिंह द्वारा नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद पर प्रहार किये  जाने के कारण बुधवार को दल की फजीहत हुई.

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने जगदानंद सिंह पर प्रहार करते हुए आरोप लगाया कि यहां पार्टी मुख्यालय “सरकारी कार्यालय” की तरह हो गया है. रघुवंश और जगदानंद दोनों राजद की 1997 में स्थापना के बाद से ही उससे जुड़े रहे हैं.

Sport House

इसे भी पढ़ें- मोदी सरकार का प्रयास, देश की जेलों में ज़िम्मेवार नागरिक हों तैयार

जगदानंद की कार्यशैली से नाखुश हैं रघुवंश

रघुवंश ने बिना अनुमति के राजद के प्रदेश अध्यक्ष के कक्ष में आगंतुकों के प्रवेश पर प्रतिबंध के संदर्भ में जगदानंद का नाम लिए बिना उनपर प्रहार करते हुए कहा कि हरेक को अनुशासन स्वयं ही लागू करना चाहिए. इसे बाहर से लागू नहीं किया जाना चाहिए.

हमारी पार्टी के कार्यकर्ता वैसे कर्मचारी नहीं हैं जो वेतन पाते हैं. उसकी सराहना की जानी चाहिए. हमें पार्टी कार्यालय को सरकारी कार्यालय के जैसा बनाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए. राजद के सूत्रों के अनुसार रघुवंश, जगदानंद की कार्यशैली से नाखुश हैं.

Vision House 17/01/2020

इसे भी पढ़ें- #Secondphase: 2 सीटिंग सीट के साथ कांग्रेस का सिमडेगा और पश्चिमी जमशेदपुर सीट पर है पूरा जोर

रघुवंश की नाराजगी पर क्या कहा जगदानंद ने

रघुवंश की नाराजगी के बारे में पूछे जाने पर, जगदानंद ने चतुराई से कहा कि मैं पार्टी की राज्य इकाई का प्रमुख हूं. वे पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष होने के नाते हमसे उंचे पद पर आसीन हैं. मैं उनसे सलाह लूंगा और मेरी कार्यशैली में यदि कोई कमी है, जिससे मैं अनभिज्ञ हूं, तो मैं उसके बारे पता लगाने की कोशिश करूंगा.

SP Deoghar

ऐसी भी अटकलें हैं कि रघुवंश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राजग विरोधी मोर्चे में वापसी को लेकर दिये गये बयान के एक दिन बाद जगदानंद ने कहा था “तेजस्वी के नेतृत्व पर कोई समझौता नहीं होने जा रहा है.

इस बीच, नीतीश की पार्टी जदयू के प्रवक्ता निखिल मंडल ने रघुवंश के प्रति सहानुभूति व्यक्त करते हुए कहा कि वे अपने मन की बात कहने से नहीं कतराते. 

Mayfair 2-1-2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like