JharkhandLead NewsRanchi

आखिर ईडी के सामने आने से क्यों कतरा रहे हैं साहेबगंज डीएमओ

Ranchi : ईडी द्वारा साहेबगंज डीएमओ को दो बार नोटिस भेजा गया. लेकिन वो ईडी के सामने आने से कतरा रहे हैं. ईडी द्वारा आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल के खिलाफ कार्रवाई के बाद नये-नये खुलासे सुर्खियों में हैं. लेकिन अब ऐसा लगता है कि प्रकरण में कुछ तो ऐसा है जिस वजह से डीएमओ कतरा रहे हैं. सूत्रों से मिली जानकारी की मानें तो डीएमओ विभूति कुमार ने ईडी से 15 दिनों का समय मांगा है. डीएमओ विभूति ईडी दफ्तर कब आयेंगे इसे लेकर संशय बरकरार है.

वहीं ईडी की जांच की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ पा रही है. 16 मई को ईडी ने डीएमओ को समन भेजा था. उस वक्त डीएमओ ने बेटी की शादी का हवाला दिया था. अब 15 दिन का समय मांग लिया है. विभूति कुमार ने ईडी से अनुरोध किया है कि उन्हें और 15 दिन दिये जायें. जानकारी के अनुसार बीते शुक्रवार को डीएमओ विभूति कुमार ने अपने कार्यालय में योगदान दे दिया है. साहेबगंज के डीएमओ से पूछताछ में ईडी के समक्ष कई बड़े नामों का खुलासा हो सकता है.

इसे भी पढ़ें: अवैध खनन को ले CM हेमंत का तेवर तल्ख, कहा- अवैध खनन हुआ तो अफसरों की खैर नहीं

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल के सीए सुमन सिंह को शुक्रवार को रिमांड समाप्त होने के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. ऐसे में डीएमओ के समक्ष सीए की पूछताछ नहीं की जा सकी है. ईडी को अब भी कई ऐसे सवालों के जबाब की तलाश है जो साहेबगंज डीएमओ से ही मिल सकती है. ईडी की निगाहें साहेबगंज के डीएमओ विभूति कुमार पर हैं. साहेबगंज डीएमओ विभूति कुमार पर आइएएस पूजा सिंघल तक रुपये पहुंचाने का आरोप है. साथ ही पंकज मिश्रा समेत कई अन्य को डीएमओ विभूति कुमार ने खनन पट्टा देने का भी आरोप है.

The Royal’s
Sanjeevani
MDLM

निशिकांत दुबे ने भी उठाया सवाल

ईडी की कार्रवाई पर सांसद निशिकांत दुबे सोशल मीडिया पर सक्रिय है. मामले में लगातार ट्वीट कर सरकार पर आरोप लगा रहे हैं. डीएमओ विभूति कुमार के ईडी के समक्ष हाजिर नहीं होने पर गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने बीते गुरुवार को अपने ट्वीट पर लिखा है. साहिबगंज जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार ईडी के समन से बहाना बना कर भाग रहा है. विभूति पर करोड़ों की कमाई का और दूसरे के लिए काम करने का आरोप लग रहा है. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि आख़िर इस अधिकारी को भगा कौन रहा है और इससे किसे सबसे ज्यादा खतरा है.

इसे भी पढ़ें:मौजूदा राजनीतिक समीकरण देखते हुए JMM ने हेमंत के लिए तैयार किए दो प्लान, A होगा फेल तो दूसरा Paln B होगा Execute !

Related Articles

Back to top button