JharkhandRanchiTOP SLIDER

आखिर गरीबों ने क्यों कहा- 10 साल बाद दो फ्लैट, लेकिन परेशान मत करो

  • RMC ने 7वीं बार रदद् किया फ्लैट आवंटन
  • बनहोरा में बने 175 फ्लैटों की आवंटन प्रक्रिया 7वीं बार हुई रद्द, काम छोड़ कर आते हैं लाभुक

Ranchi : देश के हर गरीब को पक्का मकान देने की योजना पर मोदी सरकार ने काम तेज कर दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का सपना है कि गरीबों को साल 2022 तक आवास मिल सके. दूसरी तरफ रांची नगर निगम इस योजना के तहत बने फ्लैट के आवंटन की प्रक्रिया में राजधानी के गरीब लाभुकों से भद्दा मजाक कर रहा है.

दरअसल बनहोरा में बन रहे 175 फ्लैटों की आवंटन प्रक्रिया निगम ने 7वीं बार रद्द कर दी है. इससे नाराज लाभुकों का कहना है कि आवास नहीं देना है मत दो, 10 साल बाद देना है 10 साल बाद दो, लेकिन परेशान मत करो. हम प्राइवेट नौकरी करनेवाले हैं. जिस दिन निगम को फ्लैट आवंटन करना होता है, तो निगम फोन कर लाभुकों को बुला लेता है. जब लाभुक आवंटन प्रक्रिया स्थल पर पहुंचते हैं, तो बिना कुछ कारण बताये निगम आवंटन प्रक्रिया को रद्द कर देता है. आखिर एक प्राइवेट नौकरी करनेवाले गरीब लोगों से मजाक कर निगम को क्या मिलता है.

बता दें कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत 175 गरीब को मंगलवार को फ्लैटों को लॉटरी के माध्यम से आवंटन करना था. यह फ्लैट उन परिवारों को दिये जाने हैं, जिनके पास अभी तक पक्का मकान नहीं है. आवंटन का कार्यक्रम रांची विश्वविद्यालय के दीक्षांत मंडप में होना था.

इसे भी पढ़ें : ई-कॉमर्स कंपनियों के कारण रिटेल बाजार में 3 साल में 35 प्रतिशत तक गिरावट: कंज्यूमर एसोसिएशन

यह आवास उन्हीं लोगों को दिया जाना है जो नगर निगम क्षेत्र में 17 जून 2015 के पहले से रह रहे हैं, लेकिन उनके पास आज भी कोई पक्का मकान नहीं है. बिना कोई कारण बताये निगम ने ऐन मौके पर इस आवंटन प्रकिया को रदद् कर दिया. वह भी 7वीं बार. इससे नाराज लोगों से मौके पर न्यूज विंग संवाददाता ने लाभुकों से स्थिति की जानकारी ली.

एक लाभुक ने बताया कि बिना किसी सूचना के अपरिहार्य कारणों के निगम ने एक बार फिर आवंटन को रद्द कर दिया है. प्राइवेट काम करनेवालों के लिए समय निकालना कितना कठिन होता है, वह निगम के अधिकारी या जनप्रतिनिधि क्या जानें. पिछले डेढ़ से 2 साल तक यह प्रक्रिया चल रहा है. फिर भी अपने आवास के लिए हम यहां आते हैं. आज बताया गया कि इस बार फाइनल तरीके से आवास का आवंटन कर दिया जायेगा. लेकिन फिर से आवंटन रद्द, वह भी 7वीं बार.

अपने बच्चे को लेकर पहुंची एक महिला लाभुक ने बताया कि निगम ने बताया था कि इस बार आवंटन प्रक्रिया को पूरा कर लिया जायेगा. इस बार यह तारीख तय है. लेकिन फिर से नोटिस चिपका कर रद्द कर निगम ने हमें परेशान किया.

एक लाभुक ने कहा कि आवास लेनेवालों में प्राइवेट सर्विस से लेकर लेबर क्लास के लोग आते हैं. जब भी निगम फ्लैट आवंटन की बात करता है, तो हम समय निकाल कर आते हैं. फिर से आवंटन को रद्द कर दिया. वह समय कब आयेगा, जब निगम अपनी बातों को पूरा करेगा. निगम कितनी बार हमें बुलायेगा. आपको फ्लैट नहीं देना है, मत दीजिए. 10 साल बाद देना है, 10 साल बाद दीजिए. लेकिन हमें परेशान न करें.

इसे भी पढ़ें : जिला पुलिस के सफल अभ्यर्थी अनिश्चितकालीन धरना पर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: