NEWSWorld

अफगानिस्तान के कंधार एयरपोर्ट पर हमला, सभी उड़ानें रद्द

Kabul: अफगानिस्तान के कंधार एयरपोर्ट पर रॉकेट हमले की खबर आ रही है. बताया जा रहा है कि एयरपोर्ट पर तीन रॉकेट दागे गए हैं. इनमें से 2 रनवे पर गिरे और एक ब्लास्ट हो गया. न्यूज एजेंसी AFP ने कंधार एयरपोर्ट के अधिकारियों से हवाले से रॉकेट हमले की पुष्टि की है. एजेंसी ने एयरपोर्ट के चीफ मसूद पश्तून के हवाले से बताया है कि दक्षिणी अफगानिस्तान में स्थित कंधार एयरपोर्ट पर कम से कम तीन रॉकेट हमले किए गए हैं. जिसके बाद कंधार एयरपोर्ट से सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है.

 

से भी पढ़ें : भारतीय रिजर्व बैंक ला रहा डिजिटल करेंसी! जानें कैसे कर पाएंगे इसका इस्तेमाल

advt

 

शनिवार देर रात हुए इस हमले में किसी की जान जाने की खबर नहीं है. हमले के पीछे तालिबान का हाथ माना जा रहा है, क्योंकि ये हमला ऐसे समय हुआ है, जब तालिबान के लड़ाकों ने हेरात, लश्कर गाह और कंधार को चारों तरफ से घेर रखा है. कंधार अभी भी अफगान सरकार के नियंत्रण में है, लेकिन यहां तालिबान तेजी से कब्जा करने की कोशिश कर रहा है. कंधार अफगानिस्तान के महत्वपूर्ण शहरों में से एक है. यहां के हवाई अड्‌डे का उपयोग अफगानिस्तान की सेना को हथियार और रसद भेजने में भी किया जाता है. इसलिए तालिबान इस एयरपोर्ट पर कब्जा कर अफगान सेना को मिलने वाली मदद को रोकना चाहता है. पिछले 2-3 हफ्तों में तालिबान ने इस इलाके में हमले बढ़ा दिए हैं.

इस बीच अफगान सुरक्षा बलों के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान गजनी, कंधार, हेरात, फराह, जोजजान, बल्ख, समांगन, हेलमंद, तखर, कुंदुज, बगलान, काबुल और कपिसा प्रांतों में चलाए गए सैन्य अभियान में 254 तालिबान आतंकवादी मारे गए हैं. इसी अभियान में 97  तालिबानी आतंकियों के घायल होने की पुष्टि भी की गई है.

 

इसे भी पढ़ें : वकीलों को बदलनी होगी मानसिकता, तय हो सकता है बहस का वक्त

अफगानिस्तान नेशनल डिफेंस सिक्योरिटी फोर्सेज ने अमेरिका की मदद से तालिबानियों के कब्जे वाले कई गांव खाली करा लिए हैं. फोर्सेज के एक्शन के बाद ये साफ हो गया है कि तालिबानियों की हिंसा में पाकिस्तानी लड़ाके भी बराबरी से शामिल हैं. मुठभेड़ के दौरान ऐसे कई लड़ाकों को अफगानी फोर्सेज ने मार गिराया है, जो पाकिस्तानी सेना में अफसर हैं. इनके पास से पाकिस्तानी आईकार्ड भी मिले हैं.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: