Lead NewsOpinionTRENDINGWorld

तालिबान के कब्जे से सहमी अफ़ग़ानिस्तान की फिल्ममेकर सहरा करीमी ने लगाई गुहार, पढ़ें चिट्ठी

सरकारी फिल्म कंपनी अफगान फिल्म की महानिदेशक हैं सहरा

Kabul :  “मेरा नाम सहरा करीमी है और मैं एक फिल्म निर्देशक हूं. साथ ही अफगान फिल्म की वर्तमान महानिदेशक हूं, जो 1968 में बनी इकलौती सरकारी फिल्म कंपनी है. मैं यह ख़त टूटे दिल के साथ लिख रही हूं और इस गहरी उम्मीद के साथ कि आप मेरे खूबसूरत लोगों को, खासकर फ़िल्ममेकर्स को तालिबान से बचाने में शामिल होंगे. तालिबान ने पिछले कुछ हफ़्तों में कई सूबों पर क़ब्ज़ा कर लिया है. उन्होंने हमारे लोगों का क़त्लेआम किया, कई बच्चों को अग़वा किया. कई लड़कियों को चाइल्ड ब्राइड की तरह अपने लोगों को बेच दिया. उन्होंने एक औरत का क़त्ल उसके कपड़ों की वजह से कर दिया.

इसे भी पढ़ें :Rims News:  एकेडमिक ब्लॉक में अब पढ़ेंगे मेडिकोज, लाइब्रेरी, कैफेटेरिया एक ही छत के नीचे

advt

कॉमेडी आर्टिस्ट को बड़ी बेरहमी से मार डाला

उन्होंने हमारे एक पसंदीदा कॉमेडी आर्टिस्ट को बड़ी बेरहमी से मार डाला. उन्होंने एक तारीख़ी शायर को भी मार डाला. उन्होंने सरकार के कल्चर और मीडिया हेड को मार डाला. उन्होंने सरकार से जुड़े कई लोगों को हलाक कर दिया. उन्होंने कुछ लोगों को सरे बाज़ार फांसी पर लटका दिया. उन्होंने लाखों परिवारों को बेघर कर दिया. कई सूबों से भागे हुए ख़ानदान काबुल में पनाहगाहों में बदहाल ज़िन्दगी जी रहे हैं. उन पनाहगाहों में उनके साथ लूटपाट हो रही है. दूध न मिलने से नन्हे बच्चों की मौत हो रही है. यह एक मानवीय संकट है. फिर भी दुनिया ख़ामोश है.

इसे भी पढ़ें :एक्शन में नवजोत सिद्धू : निभाई दोस्ती,परगट सिंह को पंजाब कांग्रेस महासचिव नियुक्त किया

20 बरसों में हमने जो हासिल किया है वह सब बर्बाद हो रहा है

हमें इस चुप्पी की आदत है, लेकिन हम जानते हैं कि यह सही नहीं है. हम जानते हैं कि हमारे लोगों को उनके हाल पर छोड़ देने का यह फ़ैसला ग़लत है. पिछले 20 बरसों में हमने जो हासिल किया है वह सब बर्बाद हो रहा है. हमें आपकी आवाज़ की ज़रूरत है. मैंने अपने मुल्क में बतौर एक फ़िल्मकार जो कुछ क़ायम किया है वो सब ख़त्म हो जाने का ख़तरा पैदा हो गया है.

अगर मुल्क की कमान तालिबान के हाथ में जाती है, तो वे सभी कलाओं पर रोक लगा देंगे. मेरे जैसे कई फ़िल्मकार उनकी हिट लिस्ट में हो सकते हैं. वे औरतों के हक़ों पर हमला करेंगे और हमारी आवाज़ को घोंट दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें :कांग्रेस को बड़ा झटका, महिला इकाई की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने दिया इस्तीफा

तालिबान ने लड़कियों के स्कूल जाने पर पाबंदी लगाई थी

जब पिछली बार तालिबान की हुकूमत क़ायम हुई थी तो लड़कियों के स्कूल जाने पर पाबंदी लगा दी गई थी. तब के मुक़ाबले आज मुल्क के स्कूलों में लड़कियों की तादाद 90 लाख ज़्यादा है. तालिबान के क़ब्ज़े वाले मुल्क के तीसरे सबसे बड़े शहर हेरात की यूनिवर्सिटी में 50% औरतें और लड़कियां हैं. ये बड़ी कामयाबी है जो पिछले 20 बरसों में हासिल की गई है जिससे दुनिया अनजान है. पिछले कुछ हफ़्तों में तालिबान ने कई स्कूलों को तबाह कर दिया है और 20 लाख लड़कियों को फिर से स्कूल से निकाल दिया है.

इसे भी पढ़ें :निकायों से नगर विकास को नहीं मिलती जनशिकायतों के निपटारे की रिपोर्ट, विभाग का निर्देश-हर हाल में भेजें रिपोर्ट

अपने देश के लिए लड़ूंगी,

मैं इस दुनिया को नहीं समझती. मैं इस चुप्पी को नहीं समझती. मैं खड़ी हो जाऊंगी और अपने देश के लिए लड़ूंगी. लेकिन मैं इसे अकेले नहीं कर सकती. मुझे आप सब की मदद की ज़रूरत है. हमारे साथ जो हो रहा है, दुनिया का ध्यान उसपर लाने में मदद कीजिये. अपने मुल्क के मीडिया को अफ़ग़ानिस्तान में हो रहे इन वाक़्यात को उजागर करने को कहिये. अफ़ग़ानिस्तान के बाहर हमारी आवाज़ बनिये. अगर तालिबान काबुल पर क़ाबिज़ हो जाता है, तो इंटरनेट या दूसरे संचार माध्यमों तक हमारी पहुँच ख़त्म हो जा सकती है.

इसे भी पढ़ें :शेयर बाजार में लिस्ट हुई चार कंपनियों के आईपीओ, देवयानी इंटरनेशनल को मिली बढ़त

औरतों, बच्चों, फ़नकारों और फ़िल्मकारों को मदद की जरूरत

मेहरबानी करके अपने फ़िल्मकारों को हमारी आवाज़ उठाने को कहिये. हमारे हालात को अपने यहाँ के मीडिया से उजागर करने को कहिये, सोशल मीडिया पर ख़ुद भी लिखिये. दुनिया हमारी तरफ़ नहीं देख रही है. हम अफ़ग़ान औरतों, बच्चों, फ़नकारों और फ़िल्मकारों को आपकी आवाज़ और मदद की बेहद ज़रूरत है. यह सबसे बड़ी मदद है जिसकी हमें आपसे उम्मीद है. मेहरबानी करके हमारी मदद कीजिये. दुनिया को अफ़ग़ानों को भुला देने मत दीजिये. मेहरबानी करके काबुल में तालिबान के हुकूमत में आने से पहले हमारी मदद कीजिये. हमारे पास कुछ ही दिन हैं.

बहुत-बहुत शुक्रिया.’

सहरा करीमी

इसे भी पढ़ें :काबुल एयरपोर्ट पर अफरातफरी, प्लेन में चढ़ने के लिए ट्रेन के जेनरल डिब्बे जैसी मारामारी, देखें VIDEO

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: