न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अधिवक्ताओं को राजनीति से जुड़ना चाहिए, वे देश की राजनीति को बदल सकते हैं : बाबूलाल मरांडी

50

Ranchi : झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी शनिवार को पार्टी के अधिवक्ता मंच की बैठक में पूरे चुनावी रंग में दिखे. पार्टी की मजबूती के लिए संगठन के हर ढांचे को चुनाव में जाने से पूर्व मजबूत करने में लगे हैं. केंद्रीय कार्यालय, डिबडीह में हुई बैठक को संबोधित करते हुए बाबूलाल मरांडी ने कहा कि पार्टी के अधिवक्ता मंच में ज्यादा से ज्यादा अधिवक्ताओं को जोड़ने का काम करें मंच के पदाधिकरी. समाज में बुद्धिजीवी व अधिवक्ताओं का स्थान सर्वश्रेष्ठ रहा है. ऐसे में इनकी सक्रियता का राज्य और पार्टी को भी लाभ होगा. अधिवक्ता चाहें, तो देश एवं राज्य की दिशा व दशा बदल सकते हैं, जिसकी जरूरत झारखंड को है. देश एवं समाज गढ़ने में अधिवक्ताओं का महत्वपूर्ण योगदान है. अधिवक्ता को राजनीति के क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा जुड़ना चाहिए. वे देश की राजनीति को बदल सकते हैं.

mi banner add

एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट को अविलंब लागू करे सरकार : चुन्नू कांत

बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता व गिरिडीह बार एसोसिएशन के महासचिव चुन्नू कांत ने कहा कि आज अधिवक्ता कल्याण से संबंधित कई मामले लंबित हैं. सरकार एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट को अधिवक्ता हित में अविलंब लागू करे. अधिवक्ताओं के लिए मेडिकल एवं पेंशन व्यवस्था लागू करवाने के लिए अधिवक्ता मंच आंदोलन चलायेगा और अधिवक्ताओं को मंच के साथ जोड़ेगा. उन्होंने कहा कि अधिवक्ता मंच एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट की मांग को लेकर जल्द राज्यपाल से मिलकर ज्ञापन सौंपेगा. मंच की बैठक में हाई कोर्ट के अधिवक्ता रिंकी झा, झाविमो रांची महानगर के अध्यक्ष सुनील गुप्ता, महानगर महासचिव व अधिवक्ता मंच के प्रभारी जितेंद्र वर्मा, अधिवक्ता मंच रांची महानगर के अध्यक्ष शिव शंकर साहू, रांची बार एसोसिएशन के शाहिद अंसारी, बबलू सिंह, प्रवीण सुरीन, कंचन सिन्हा, जय गोबिंद प्रसाद, मनोज गुप्ता, गोमेश्वर महतो, संजीत कुमार, संजीव बड़ाईक, तक्की अहमद, रीता लकड़ा, राजेश मिश्रा, सुमित कुमार, जोसेफ आईंद, दिनेश मुंडा, प्रदीप यादव, कुमार विमल, प्रेम बड़ाईक, इश्तियाक अहमद, मो अशरफ, रमेश साहू सहित अधिवक्ता मंच के दर्जनों पदाधिकारी उपस्थित थे. बैठक को महानगर अध्यक्ष सुनील गुप्ता, अधिवक्ता मंच के प्रभारी जितेंद्र वर्मा, शिवशंकर साहू, बबलू सिंह ने भी संबोधित किया.

इसे भी पढ़ें- मेडिकल प्रोटेक्शन के नाम पर डॉक्टरों को मर्डर करने का लाइसेंस देगी सरकारः मोर्चा

इसे भी पढ़ें- सिमडेगा : पारा शिक्षकों की हड़ताल से बंद स्कूलों में पढ़ाने गये थे प्रशिक्षु शिक्षक, अब खुद उनकी…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: