JharkhandLead NewsNEWSRanchi

ट्रांजिट रिमांड पर कोलकाता से रांची नहीं पहुंच सके अधिवक्ता राजीव कुमार,वीडियो काफ्रेंसिंग के जरिये हुई पेशी,2 को अगली सुनवाई

Ranchi: 50 लाख रुपये के साथ कोलकाता में गिरफ्तार झारखंड हाइकोर्ट के अधिवक्ता राजीव कुमार को रांची स्थित पीएमएलए कोर्ट में पेश नहीं किया जा सका. कोलकाता स्थित जेल में बंद राजीव कुमार को प्रोडक्शन वारंट पर रांची पीएमएलए कोर्ट पेश किया जाना था. कागजी कार्रवाई पूरी नहीं होने की वजह से पीएमएलए कोर्ट में सशरीर पेशी नहीं हो सकी. वीडियो काफ्रेंसिंग के जरिये आज पेश किए जाने के बाद अब 2 सितंबर को मामले की अगली सुनवाई में पेशी होगी.

 

50 लाख रुपये के साथ पकड़े गये थे अधिवक्ता

कोलकाता पुलिस ने 31 जुलाई को झारखंड हाइकोर्ट के अधिवक्ता राजीव कुमार को कोलकाता में एक मॉल से गिरफ्तार किया था. उनके पास से पुलिस ने 50 लाख रुपये नगद राशि बरामद की थी. कोलकाता के एक व्यवसायी अमित अग्रवाल ने उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी थी. जिसमें आरोप लगाया गया है कि हाइकोर्ट में दायर पीआइएल को मैनेज करने के नाम पर अधिवक्ता ने राशि की मांग की थी.

 

ईडी ने दर्ज किया था मामला

Sanjeevani

11 अगस्त को मामले में ईडी ने मनी लाउंड्रिंग के आरोप में राजीव पर गुरुवार को केस दर्ज किया था. इसमें शिव शंकर शर्मा को भी आरोपी बनाया गया. ईडी ने मनी लाउंड्रिंग के साथ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धारा 7ए (अपने व्यक्तिगत प्रभाव का प्रयोग करके किसी अन्य व्यक्ति से अपने लिए या किसी अन्य व्यक्ति के लिए कोई अनुचित लाभ स्वीकार करना) भादवि की धारा 120 बी (आपराधिक साजिश) एवं 384 (जबरदस्ती वसूली) केस दर्ज किया है. हालांक ईडी अधिकांश केस प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट के तहत ही दर्ज करता है. लेकिन राजीव कुमार के मामले मनी लाउंड्रिंग के साथ, पीसी एक्ट एवं आईपीसी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है.

Related Articles

Back to top button