Crime NewsJharkhandRanchi

अधिवक्ता मनोज झा हत्याकांड : तमाड़ थाने में पुलिस तीन लोगों से कर रही है पूछताछ

Ranchi : रांची की तमाड़ थाना पुलिस ने अधिवक्ता मनोज झा हत्याकांड में संदेह के आधार पर तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. तमाड़ थाना प्रभारी ओम प्रकाश ने बताया कि इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी अफसर उर्फ लंगड़ा है. यह फिलहाल फरार है. पता चला है कि लंगड़ा जंगल में छिपा हुआ है. पुलिस लंगड़ा की तलाश में छापेमारी कर रही है.

इसे भी पढ़ें : CUJ: झारखंड केन्द्रीय विश्वविद्यालय में 50 फीसदी भी नहीं हैं शिक्षक, फिर भी 5 सालों में 299 ने पीएचडी और 2090 छात्रों ने कर ली पीजी

Catalyst IAS
ram janam hospital

पुलिस ने बताया कि मृतक अधिवक्ता मनोज झा को अफसर उर्फ लंगड़ा इस जमीन पर हो रहे विवाद से हट जाने को बार-बार कह रहा था. पुलिस को सूचना मिली है कि अफसर उर्फ लंगड़ा कई दिनों से अधिवक्ता मनोज झा को मौत के घाट उतार देने के फिराक में था, लेकिन वह अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पा रहा था.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने कहा कि मुख्य आरोपित पुलिस के रडार पर है. किसी भी समय उसे धर दबोच लिया जाएगा. आलम खुद मामले की मॉनिटरिंग कर रहे हैं. आपको बता दें कि जेवियर स्कूल तमाड़ के रड़गांव में 14 एकड़ जमीन पर कॉलेज का निर्माण कार्य चल रहा था. वहां पर चारदीवारी का कार्य हो रहा था. मनोज झा सोमवार को चारदीवारी निर्माण को देखने गए थे.

निर्माण कार्य देखने के बाद वह रड़गांव से महज 500 मीटर की दूरी पर एक पेड़ के नीचे गाड़ी खड़ी कर उसमें बैठे हुए थे. साथ में उनका चालक असलम भी था. तभी दो पल्सर मोटरसाइकिल पर पांच अपराधी आए और कार में बैठे मनोज झा पर गोलियों की बौछार कर दी. बताया जाता है कि मनोज झा को सात गोलियां लगी थी, जिससे घटनाथल पर ही उनकी मौत हो गई. इस दौरान एक अपराधी मनोज झा के चालक की कनपट्टी में पिस्टल सटाकर खड़ा रहा. गोली मारने के बाद अपराधी एनएच फोरलेन की ओर भाग गए.

इसे भी पढ़ें : दर्जा प्राप्त पूर्व राज्यमंत्री और उसके पिता की 2.54 अरब की संपत्ति कुर्क, 10 करोड़ से अधिक की लग्जरी कारें जब्त

Related Articles

Back to top button