न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आदित्‍यपुर ऑटो क्‍लस्‍टर प्रोग्राम: 1048.43 करोड़ निवेश से मिलेगा 30 हजार लोगों को रोजगार

रक्षा व रेलवे क्षेत्र के व्‍यापार की संभावनाओं की तलाश में झारखंड

5,938

Ranchi: जमशेदपुर के आदित्यपुर ऑटो क्लस्टर, आदित्यपुर में 19-20 दिसम्बर 2018 को वेंडर डेवलपमेंट प्रोग्राम का आयोजन किया जा रहा है. इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री रघुवर दास एवं विशिष्ट अतिथि रेलवे राज्य मंत्री राजेन गोहेन होंगे. कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य साल 2017 में शुरू हुए मोमेंटम झारखंड की गति को आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ की पहल को बढ़ावा देना है. साथ ही झारखंड में रक्षा एवं रेल के क्षेत्र मे व्यापार की नयी संभावनाओं को तलाशना भी है. यह आयोजन आदित्यपुर ऑटो क्लस्टर, आदित्यपुर में भारत सरकार के रक्षा एवं रेलवे मंत्रालय, झारखंड सरकार एवं आदित्यपुर स्मॉल इंडस्ट्रियल एसोसिएशन (एसिया) के सुयंक्त तत्वाधान में किया जा रहा है. इस अवसर पर 90 कम्पनियों का शिलान्यास किया जाना है. इससे राज्य में 1048.43 करोड़ रुपये का निवेश होंगे, जिससे लगभग 9976 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार एवं लगभग 20 हजार लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार प्राप्त होगा.

शिलान्यास किये जाने वाले कम्पनियों में हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड, मॉरिशस की बहुराष्ट्रीय कम्पनी लगुना कॉलोथिंग एलएलपी, एक्सेल इंडिया लिमिटेड, बाबा साई इंटरप्राईजेज, किशोर एक्सपोर्ट, गृह लक्ष्मी सेल्स एवं मार्केटिंग प्रमुख है. इन निवेशों से राज्य में ना सिर्फ रोजगार के नये अवसर सृजित होंगे. आदित्यपुर में होने वाले इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य झारखंड राज्य के औद्योगिक इकाईयों, रक्षा एवं रेलवे के इकाईयों के बीच समन्वय स्थापित करते हुए विभिन्न सरकारी विभाग, MSME औद्योगिक घराने को एक ही व्यापार मंच पर लाना है.

रक्षा मंत्रालय के विभिन्न संस्थाओं के 25 से भी ज्यादा स्टॉल 

इस कार्यक्रम में रक्षा मंत्रालय के विभिन्न संस्थाओं के 25 से भी ज्यादा स्टाल लगाये जाएंगे. जिसमें प्रमुख हैं-आर्डिनेंस फैक्ट्रीबोर्ड, गैस टर्बाइन रिसर्च एस्टेब्लिषमेंट, मिश्र धातु निगम, मझगाँव डॉकशिप बिल्डर्स, भारत डायनॉमिक्स लिमिटेड, इन्सटीट्यूट ऑफ न्यूक्लिीयर मेडिसिन एण्ड एलायड साइंस, डिफेंस रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन, भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड, गार्डनरीच सिप बिल्डर्स एण्ड इंजीनियर्स, हिन्दुस्तान एरोनॉटिकल लिमिटेड, हैवी वेहकल फैक्ट्री, जबलपुर, हैवी वेहकल फैक्ट्री, अवाडी इत्यादि हैं.

रेलवे मंत्रालय से साउथ इस्टर्न रेलवे, इस्टर्न रेलवे, कपूरथला, इन्टीग्रल कोच फैक्ट्री, चेन्नई, रेल इण्डिया टेक्निकल एण्ड इकोनामिक सर्विस (राईटस), रिसर्च डिजाइन एण्ड स्टैंडर्ड ऑर्गेनाइजेशन(RDSO) लखनउ, इस्टर्न रेलवे, जमालपुर से लगभग 10 स्टॉल लगाये जा रहे हैं. इसके अलावा झारखंड से टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, हैवी इंजिनियरिंग  कारपोरेशन, राँची एवं अन्य 70 स्टॉल लगाये जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: दुबई नहीं, पहले अपना झारखंड संभालिये सीएम साहब : योगेन्द्र प्रताप

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: