Crime NewsJamshedpurJharkhand

जमशेदपुर : आदर्श विद्यालय राहरगोड़ा बना जंग का मैदान, जून‍ियर छात्रों ने सीनि‍यर को मारपीट कर क‍िया लहूलुहान

Jamshedpur: अक्सर सुना जाता है कि सीनियर क्लास के छात्र जूनियर क्लास के छात्रों के साथ बात नहीं मानने पर दुर्व्यवहार करते हैं. मारपीट तक कर देते हैं. लेकिन राहरगोड़ा स्थित आदर्श विद्यालय का मामला उलट है. जूनियर क्लास के छात्रों ने बात नहीं मानने पर मि‍लकर दसवीं कक्षा के छात्र के साथ मारपीट की और सि‍र फोड़ दिया.

राहरगोडा बस स्टैंड के समीप रहनेवाले टेंपो चालक विजयपाल का पुत्र जीत पाल और अभिजीत पाल आदर्श विद्यालय राहरगोड़ा में दसवीं का छात्र है. जीतपाल 10 ए में तो अभिजीत पाल 10 बी का छात्र है. जीतपाल अक्सर नौवीं कक्षा में पढ़नेवाले मित्रों से मिलने जय करता था. लेकिन एक सप्ताह से नवीं कक्षा के विकास और यशराज को उसका क्लास में आना-जाना नागवार गुजरने लगा जिसको लेकर जीतपाल को कई बार चेतावनी देते हुए धमकी दी गई. जीत पाल ने उनकी बातों को अनसुना करते हुए शुक्रवार को एक बार फिर उनके क्लास में गया जहां पूर्व में दी गई चेतावनी को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया.

स्‍कूल कैंपस के बाहर ले जाकर दमभर पीटा

विवाद के बाद एक बजे स्कूल की छुट्टी होने पर विकास और यसराज अपनी कक्षा के 20- 25 अन्य छात्रों के साथ जीतपाल को पकड़कर स्कूल कैंपस से बाहर ले गए और वहां उसकी जमकर धुनाई कर दी. इसी बीच सि‍र पर कड़ा से वार किये जाने से उसका जीतपाल का स‍िर फट गया. लहूलुहान हालात में देख सभी वहां से फरार हो गए. वहीं जीतपाल के भाई अभिजीत पाल को इसकी जानकारी मिली तो उसने अपने माता-पिता को जानकारी दी और घायल भाई को लेकर एमजीएम अस्पताल पहुंचे जहां उसका इलाज किया जा रहा है.

प‍िता करेंगे थाने में शि‍कायत

वही अभिजीत पाल ने बताया कि घटना के बाद उसने क्लास टीचर संगीता और आशा इक्का को इसकी जानकारी दी लेकिन उन दोनों शिक्षकों ने स्कूल कैंपस में घटना नहीं होने और बाहर घटना में अपनी जिम्मेदारी नहीं होने की बात कह अपना पल्ला झाड़ लिया. वहीं घायल छात्र के पिता विजयपाल ने इसकी शिकायत थाना में करने की बात कही है.

ये भी पढ़ें-जमशेदपुर : एमजीएम अस्पताल के औचक निरीक्षण में गायब थे दो डॉक्टर, कारण बताओ नोटिस जारी

Related Articles

Back to top button