न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नक्‍सल पर नकेल के लिए पांच राज्‍यों की पुलिस ने तैयार की एक्‍शन प्‍लान

276

Ranchi: शुक्रवार को झारखंड के पुलिस महानिदेशक डीके पांडेय की अध्यक्षता में पुलिस मुख्यालय, रांची स्थित सभागार में “Eastern Regional Police Co-ordination Meeting”आयोजित की गयी. इस बैठक में झारखंड समेत बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडि‍शा और छत्तीसगढ़ के सीआरपीएफ, एसएसबी, आईबी, ईडी और झारखंड पुलिस के वरीय पुलिस पदाधिकारियों ने भाग लिया.

बैठक में सभी सीमावर्ती राज्यों के द्वारा आपसी समन्वय बनाकर अन्तर्राज्यीय उग्रवादियों के विरूद्ध कई एक्‍शन प्‍लान तैयार किया गया.

एक्‍शन प्‍लान:

  • संयुक्त एवं अक्रामक अभियान चलाना
  • खुफिया सूचनाओं का आदान-प्रदान करना
  • अंतरराज्यीय अपराधी गिरोहों की जानकारी शेयर करना
  • बैंक एवं ज्वेलरी शॉप में डकैती में शामिल अपराधियों की जानकारी शेयर करना
  • खुफिया अभियान की जानकारी शेयर करना
  • साईबर क्राईम के क्षेत्र में संयुक्त कार्रवाई
  • सीमावर्ती क्षेत्रों में नाका लगाकर शराब एवं मादक द्रव्‍यों की तस्करी पर रोक

नक्‍सली अभियान के साथ साइबर अपराध पर जोर

झारखंड के पुलिस महानिदेशक डीके पांडेय ने इस संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि चरणबद्ध और समयबद्ध तरीके से नक्सलियों के खात्मे की रूप-रेखा की जानकारी प्रदान करते हुए सीमावर्ती छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, ओडि‍शा और बिहार राज्य की पुलिस के साथ आपसी सहयोग एवं समन्वय, नक्सलियों पर शिकंजा कसने के लिए संयुक्त नक्सल-अभियान के लिए विशेष मार्गदर्शन प्रदान करें. नक्सली गतिविधियों पर अंकुश लगाने के अतिरिक्त अफीम की अवैध खेती, साईबर अपराध और संगठित अपराध पर अंकुश लगाने के लिए अन्तर्राज्यीय समन्वय तथा साईबर क्राईम के क्षेत्र में सभी सीमावर्ती क्षेत्रों में अवैध सिम की बिक्री पर रोक लगाने के लिये हर संभव प्रयास करने का निर्देश दिया.

नक्‍सलियों पर प्रहार के लिए टेक्निकल चेंज का सुझाव

बैठक में डीजीपी ने कहा कि ‘पूर्वी क्षेत्रीय पुलिस समन्वय समिति’ की बैठक की तरह ही उन्होंने पूर्वी क्षेत्रीय साईबर क्राईम समन्वय समिति की बैठक करने का सुझाव दिया. झारखंड पुलिस के द्वारा चलाये जा रहे बॉर्डर एरिया डेवलपमेन्ट प्लान की विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराते हुए नक्सलियों पर असरदार प्रहार के लिए टैक्टिकल-चेंज का सुझाव भी दिया. उन्होंने कहा कि सीमावर्ती राज्यों के पुलिस पदाधिकारी विशेष कर पुलिस अधीक्षक, पुलिस उपाधीक्षक, पुलिस निरीक्षक एवं थाना प्रभारियों के स्तर पर निरन्तर आपसी समन्वय के लिए बैठक करें. डीजीपी ने अन्तर्राज्यीय सीमाओं पर नक्सली गतिविधियों पर कड़ी नज़र रखने, पुलिस बल के आपसी आवागमन और प्रशिक्षण सहित फ्री-फ्लो ऑफ इन्फॉरमेशन पर बल दिया. उन्‍होंने अन्तर्राज्यीय संयुक्त पूछताछ-टीम के गठन की आवश्यकता दर्शाते हुए झारखंड राज्य पुलिस की नयी पहल की भी जानकारी दी.

इस बैठक में नक्सल अभियान के परिदृश्य सहित संयुक्त बैठकों में लिए गये निर्णयों पर कार्यान्वयन की चर्चा की गयी. पुलिस महानिदेशक, झारखंड ने अगली Eastern Regional Police Co-ordination Meeting” को दिसम्बर के प्रथम सप्ताह में कोलकाता पुलिस द्वारा आयोजित करने का सुझाव दिया.

इस बैठक में कुलदीप सिंह, विशेष पुलिस महानिदेशक, मध्य जोन, कोलकाता ने नक्सलियों के विरूद्ध कारगर अभियानों के लिए स्थानीय स्तर पर सूचनातंत्र को सशक्त करते हुए उनके विरूद्ध कारगर प्रहार किए जाने पर बल दिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: