National

Action :  चीन से खराब क्वालिटी के रैपिड जांच किट मंगाकर आपूर्ति करने वाले दो आयातकों के लाइसेंस रद्द

New Delhi :  केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने चीन में ग्वांगझोऊ वोंदफो बायोटेक और झुहाई लिवसन डायग्नोस्टिक्स द्वारा बनाई कई कोविड-19 रैपिड एंटीबॉडी जांच किटों की आपूर्ति करने वाले दो आयातकों के लाइसेंस रद्द कर दिए हैं. ये किट निम्न क्वालिटी के पाये गये थे.

सीडीएससीओ ने आईसीएमआर की टिप्पणी के आधार पर इन आयातकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया और त्वरित जांच किटों का आयात रोकने को कहा.

इसे भी पढ़ेंः मौसम विभाग की चेतावनी: अगले कुछ घंटों में गढ़वा, पलामू और लातेहार जिलों में बारिश, वज्रपात व तूफान

ram janam hospital
Catalyst IAS

एक वरिष्ठ सरकारी वकील ने कहा,‘‘सीडीएससीओ ने उन दो आयातकों के लाइसेंस रद्द कर दिए हैं जिन्होंने चीन में ग्वांगझोऊ वोंदफो बायोटेक और झुहाई लिवसन डायग्नोस्टिक्स द्वारा निर्मित कोविड-19 रैपिड एंडीबॉडी जांच किटों को आयात किया था.’’

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने 28 अप्रैल को राज्यों से दो चीनी कंपनियों से खरीदी गयीं कोविड-19 रैपिड एंटीबॉडी जांच किट का इस्तेमाल रोकने और उन्हें लौटाने को कहा था ताकि उन्हें कंपनियों को वापस भेजा जा सके.

सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को भेजे परामर्श में आईसीएमआर ने कहा था कि उसने ‘‘ग्वांगझोऊ वोंदफो बायोटेक और झुहाई लिवसन डायग्नोस्टिक्स की किटों का क्षेत्रीय परिस्थितियों में आकलन किया. परिणामों में उनकी सूक्ष्म ग्राह्यता में काफी अंतर आया है जबकि निगरानी के उद्देश्य से इसके अच्छे प्रदर्शन का वादा किया गया था.’’

इसे भी पढ़ेंः कोरोना महामारी ने पैदा की आर्थिक संकट, मुकेश अंबानी समेत तमाम निदेशकों के वेतन में कटौती

इसे भी पढ़ेंः न्यूज विंग की खबर पर रांची मेयर ने जारी किया प्रेस बयान, वह जो कह रही हैं उसका उल्लेख पहले से खबर में है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button