JharkhandLead NewsRanchi

नक्सलियों की करतूत : बरवाडीह-छिपादोहर रेलवे स्टेशन के बीच मिला सिलेंडर, तीन घंटे तक ठप रहा परिचालन

Latehar : धनबाद रेलमंडल के बरवाडीह-बरकाकाना रेलखंड पर बरवाडीह-छिपादोहर रेलवे स्टेशन के बीच बुधवार की देर रात सिलेंडर बम मिलने से सनसनी फैल गयी. जिसकी वजह से करीब तीन घंटे तक रेल परिचालन बाधित रही. रेलवे ट्रैक से सिलेंडर को हटाने के बाद रेल परिचालन सामान्य हुआ. बाद में गैस सिलेंडर को बीडीएस की टीम ने पास के जंगल में ले जाकर विस्फोट कर नष्ट किया.

गणतंत्र दिवस के मद्देनजर और नक्सलियों का प्रतिरोध सप्ताह को देखते हुए रेलवे अर्ल्ट पर था. बुधवार रात करीब एक बजे बरवाडीह-छिपादोहर रेल लाइन के पोल संख्या 247/10 के पास डाउन लाइन में पेट्रोलिंग कर रहे पीडब्ल्यूआई के पेट्रोलमैन बैजू कुमार साह और अविनाश कुमार भारती को रेलवे ट्रैक के पास एक बोरे में सिलेंडर रखा हुआ दिखा. उन्होंने तत्काल इसकी सूचना कंट्रोल को देते हुए रेल खंड में परिचालन को बंद करवाया.

इसे भी पढ़ें:आइसा और इंकलाबी नौजवान सभा ने 28 जनवरी को किया बिहार बंद का ऐलान

रेलवे ट्रैक में सिलेंडर बम होने की आशंका की सूचना के बाद मौके पर आरपीएफ और छिपादोहर थाने की पुलिस टीम पहुंची. सिलेंडर को रेलवे ट्रैक से दूर सुरक्षित ले जाकर रखा गया. लगभग 3 घंटे के बाद रेल परिचालन को सामान्य कराया गया.

सिलेंडर मिलने की सूचना पर जिले के पुलिस अधिकारियों के साथ-साथ धनबाद रेल मंडल के अधिकारियों ने सिलेंडर की जांच कराने के लिए बम निरोधक टीम को मौके पर बुलाया.

इसे भी पढ़ें:ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान चरणजीत सिंह का निधन

आरपीएफ और पुलिस बल की मौजूदगी में उसकी जांच की गयी, जिसमें विस्फोटक होने की आशंका के बाद उसको निष्क्रिय करने के लिए घटनास्थल से लगभग 8 किलोमीटर दूर जंगल में ले जाकर विस्फोट कराया गया.

आरपीएफ इंस्पेक्टर ओम प्रकाश ठाकुर ने बताया कि रेलवे ट्रैक की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जिला पुलिस के साथ मिलकर उनकी टीम द्वारा बम को निष्क्रिय कराने की कार्रवाई की गयी. फिलहाल पूरे मामले की जिला पुलिस के साथ सामंजस बिठाकर जांच की जा रही है.

इसे भी पढ़ें:झारखंड : राज्य के 9 खनिज ब्लॉकों की होगी नीलामी, भूतत्व निदेशालय खान एवं भूतत्व विभाग झारखंड ने शुरू की प्रक्रिया

वहीं पीडब्लूआई इंचार्ज श्याम बलिराम ने बताया कि हमारे दो कर्मियों के द्वारा इतने बड़े रेल हादसे को रोकने का कार्य किया गया है जो बधाई के पात्र हैं.

उन्हें डिवीजन के स्तर के अधिकारियों के द्वारा पुरस्कृत भी किया गया है. रेलवे बोर्ड स्तर से पुरस्कार को लेकर अनुशंसा भी भेजी गयी है.

इसे भी पढ़ें:NEWS WING की खबर लगी मुहर, स्नातक स्तरीय परीक्षा में खोरठा के संशोधित सिलेबस को JSSC ने हू-ब-हू किया जारी

Advt

Related Articles

Back to top button