न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खिड़की का रॉड काट रिम्स से फरारा हुआ कैदी, हत्या का आरोपी है बुधराम उरांव

पहले भी भाग चुका है बुधराम

612

Ranchi : सूबे का सबसे बड़ा अस्पताल कहा जाने वाला रिम्स में कैदियों के इलाज के लिए वार्ड बनाया गया है. ताकि विभिन्न जेलों से लाए गए कैदियों का बेहतर इलाज हो सके. लेकिन इन सब के बीच वार्ड में इलाजरत एक कैदी पुलिस की आंखों में धूल झोंककर फरार हो गया. घटना तड़के तीन बजे की है. जब कैदी वार्ड में पांच कैदी सो रहे थे. उस वक्त कैदी बुधराम उरांव ने घटना को अंजाम दिया. कैदी वार्ड में लगे खिड़की के रॉड को बुधराम ने कटर से काटा और फरार हो गया. उस दौरान वार्ड के सभी कैदी गहरी नींद में थे. जिसका फायदा उठाकर बुधराम वहां से फरार हो गया. फरार कैदी बुधराम का रिम्स में घुटने का इलाज चल रहा था.

इसे भी पढ़ें – क्या पक्ष और विपक्ष दोनों सदन चलने नहीं देना चाहते ?

Aqua Spa Salon 5/02/2020
हत्या का आरोपी कैदी, खिड़की का रॉड काट रिम्स से हुआ फरार
हत्या का आरोपी कैदी, खिड़की का रॉड काट रिम्स से हुआ फरार

रात के 12 बजे तक साथ में खेला लूडो

कैदी वार्ड में इलाजरत अन्य कैदियों ने बताया की बुधराम रात को सब के साथ लूडो खेल रहा था. वहीं रात के लगभग 12 बजे तक लूडो खेलने के बाद सोने की बात कहकर वह अपने बेड पर चला गया. साथ ही कैदियों ने बताया कि, हम सभी अपने वार्ड में सो गए और इसके बाद ही बुधराम ने घटना को अंजाम दिया.

पहले भी भाग चुका है बुधराम

इससे पहले भी बुधराम उरांव रिम्स से फरार हो चुका है. उस वक्त बुधराम अपनी पत्नी के सहयोग से वार्ड से निकल भागने में कामय़ाब रहा था. लेकिन पुलिस की कार्रवाई के बाद बुधराम ने 13 जुलाई को बरियातु थाना में आत्मसमर्पण कर दिया था. जिसके बाद उससे इलाज के लिए रिम्स में भर्ती कराया गया था और फिर से एक बार वह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया.

इसे भी पढ़ें – घोषणा कर भूल गयी सरकारः 16 जुलाई 2016: सीएम ने पंचायत प्रतिनिधियों को मोटिवेट करने की कही थी बात.

 

कैदी की सुरक्षा का जिम्मा पुलिस का

रिम्स चिकित्सा उपाधीक्षक डॉ संजय कुमार ने कहा कि कैदी की सुरक्षा का जिम्मा पुलिस का है. अस्पताल का काम इलाज करना है. कैदी वार्ड की सुरक्षा में 6 जवानों की ड्यूटी है. साथ ही जेल से भी एक कैदी के साथ दो सुरक्षकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाती है. इसके बावजूद कैदी फरार हो जाते हैं तो इसमें सुरक्षकर्मियों की लापरवाही है. घटना की जानकारी मिलते ही चिकित्सा उपाधीक्षक ने कैदी वार्ड का निरीक्षण किया और पूरे घटनाक्रम की जानकारी ड्यूटी में तैनात नर्स से लिया.



कैदी वार्ड के सुरक्षा का जायजा लेगी पुलिस

इस घटना के बाद एसएसपी अनीश गुप्ता ने कहा कि रिम्स के कैदी वार्ड की सुरक्षा का जायजा लिया जाएगा. घटना की सूचना मिलते ही सभी थानों को अलर्ट रहने का निर्देश दिया गया है. कैदी की सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी.

इसे भी पढ़ें – यह भी गोशाला है, जरा इसकी भी हालत देखिये सरकार

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like