BiharCourt NewsJharkhandLead NewsTOP SLIDER

पटना में पीएम मोदी की सभा में बम ब्लास्ट के आरोप में रांची से पकड़े गए आरोपी दोषी करार, एक नवंबर को सुनाई जाएगी सजा

Patna : आठ साल पहले पटना के गांधी मैदान में नरेंद्र मोदी की हुंकार रैली में सिलसिलेवार बम धमाके हुए थे. इस मामले में आज एनआइए की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है. बम ब्लास्ट के मामले में मामला एनआईए (NIA) कोर्ट ने एक आरोपी फखरुद्दीन को रिहा कर दिया है. वहीं बाकी सभी आरोपी दोषी करार दिए गए हैं. एक नवंबर को सजा सुनाई जाएगी. इस मामले में अब तक कोर्ट में 187 लोगों की सुनवाई हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें :  BH Series की सुविधा के लिये झारखंड के लोगों को करना होगा इंतजार, जानें-बीएच सीरीज के फायदे हैं

advt

इस मामले में आरोपित पांच आतंकियों को अन्या मामले में पहले ही उम्रकैद की सजा दी जा चुकी है. इसमें उमर सिद्दीकी, अजहरुद्दीन, अहमद हुसैन, फकरुद्दीन, फिरोज आलम उर्फ पप्पू, नुमान अंसारी, इफ्तिखार आलम, हैदर अली उर्फ अब्दुल्ला उर्फ ब्लैक ब्यूटी, मो. मोजीबुल्लाह अंसारी व इम्तियाज अंसारी उर्फ आलम शामिल हैं. इनमें से इम्तियाज, उमेर, अजहर, मोजिबुल्लाह और हैदर बोधगया सीरियल बम ब्लास्ट में भी उम्रकैद की सजा हो चुकी है. इनमें से कई आरोपियों की गिरफ्तारी रांची के सीठियो से हुई थी.

गौरतलब है कि 27 अक्टूबर 2013 को भाजपा के हुंकार रैली के दौरान सीरियल ब्लास्ट किया था, जिस समय गांधी मैदान में बम धमाका हुआ था, उस समय नरेंद्र मोदी समेत भाजपा के तमाम बड़े नेता वहां मौजूद थे. इसी दौरान आतंकवादियों द्वारा सिलसिलेवार कई बम विस्फोट किये गये थे. इसमें छह लोगों की मौत हुई थी. वहीं करीब 84 लोग घायल हुए थे. उसी दिन पटना जंक्शन पर भी विस्फोट किया गया था.इसके बाद 31 अक्टूबर, 2013 को एनआईए ने केस संभाला और एक नवंबर को दिल्ली एनआईए थाने में इसकी फिर से प्राथमिकी दर्ज की गई. इसमें नाबालिग समेत 12 के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया गया था. उनमें एक की मौत इलाज के दौरान ही हो गई थी. वहीं जुवेनाइल बोर्ड द्वारा नाबालिग आरोपित को पहले ही तीन वर्ष की कैद की सजा सुनाई जा चुकी है.

इसे भी पढ़ें :  झारखंड में शहरों की श्रेणी के अनुसार तैनात होंगे मोटरयान निरीक्षक, 25 नये पद का सृजन

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: