न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

महिला कांग्रेस अध्यक्ष पर आरोप,  बड़े नेताओं को खुश करने को कहती थीं, आरोप को बेबुनियाद बताया गुंजन सिंह ने

पैसा नहीं कमाओगी और बड़े नेताओं को खुश नहीं रखोगी, तो तुम्हें कौन टिकट दिलायेगा.

3,174

Ranchi : झारखंड कांग्रेस में कुछ भी सही नहीं हो रहा है. कुछ दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके डॉ अजय कुमार और सुबोधकांत सहाय के समर्थकों के घटनाक्रम से पार्टी की छवि काफी बिगड़ी ही थी कि अब झारखंड महिला कांग्रेस की छवि भी खराब होने लगी है. झारखंड प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी की सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित सदस्यों ने प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष गुंजन सिंह और प्रभारी नेटा डिसूजा का जमकर विरोध किया है. निष्कासित सदस्यों ने अध्य़क्ष गुंजन सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह महिला कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ बदसलूकी करती है.

महिला कार्यकर्ताओं को बड़े नेता के पास भेजने का काम करती है. कहती है कि पैसा नहीं कमाओगी और बड़े नेताओं को खुश नहीं रखोगी, तो तुम्हें कौन टिकट दिलायेगा. जो इनका विरोध करता है, उन्हें केस में फंसाने और पार्टी से निष्कासन करने की धमकी देती है. इस काम में झारखंड महिला कांग्रेस के प्रभारी नेटा डिसूजा का सहयोग प्राप्त है. निष्कासित हुए कार्यकर्ताओं ने अध्यक्ष को पद से हटाने की मांग की है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें : बैंककर्मियों ने किये थे एसबीआई के एटीएम से 51लाख रुपये गायब, चार आरोपी गिरफ्तार

अध्यक्ष का इतिहास संदेहास्पद

बता दें कि झारखंड प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी से निष्कासित होने वालों में प्रदेश महासचिव संगीता तिवारी, प्रियदर्शनी की प्रदेश संयोजिका हेमा मिंज, सचिव राखी कौर, आभा ओझा और रांची महानगर महिला कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष विनीता पाठक शामिल हैं. इन्हें अनुशासनहीनता और निष्क्रियता के आरोप में छह साल के लिए पार्टी की सदस्यता से निष्कासित किया गया है. संगीता तिवारी ने कहा है कि प्रदेश अध्यक्ष का शुरू से ही इतिहास संदेहास्पद रहा है. उन पर बहुत ही गंभीर आरोप लगा हुआ है, उसके बाद भी उऩ्हें नियुक्त करना महिला कांग्रेस के लिए शर्मनाक है.

आरोप बेबुनियाद, पार्टी प्रत्याशी को ब्लेकमेल कर पैसा वसूलती थी निष्कासित कार्यकर्ता :  गुंजन सिंह

अपने उपर लगाये आरोपों को महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने बेबुनियाद बताया है. उन्होंने कहा कि पार्टी से निष्कासित महिलाएं निष्कासन से बचने के लिए संगठन नेतृत्व के विरुद्ध झूठा आरोप लगा रही है, निष्कासित सभी महिलाएं लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी प्रत्याशी को ब्लेकमेल कर पैसा वसूलने का काम करती थी. पैसा नहीं मिलने पर पार्टी विरोधी कार्य कर पार्टी प्रत्याशी को हराने का काम किया है.  इस कारण इन्हें पार्टी की सदस्यता से स्थायी रूप से निष्कासित कर दिया गया है. साथ ही भविष्य में उन्हें संगठन में किसी भी प्रकार की जिम्मेवारी नहीं देने की अनुशंसा राष्ट्रीय महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुष्मिता देव से की गयी है, ताकि संगठन की गरिमा एवं मर्यादा कायम रह सके.    

इसे भी पढ़ें : पीएम आवास योजना के तहत बन रहे मकान को दबंगों ने तोड़ा, अपनी जमीन होने का दावा किया

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like