JharkhandMain SliderRanchi

आरोप: कोरोना इलाज के नाम पर मेडिका अस्पताल कर रहा मनमानी

Ranchi : इलाज के नाम पर मरीजों से मनमाना वसूली के मेडिका अस्पताल में आये दिन मामले आते रहते हैं. ऐसा ही एक मामला कोरोना के इलाज में मनमानी करने को लेकर आया है.

बिहार के जमुई जिला से रोहित राज अपने मरीज के इलाज के लिए मेडिका अस्पताल में बीते 20 जुलाई को एडमिट कराया. मरीज को मौसम में बदलाव होने की वजह से कई तरह की परेशानी हो रही थी. एडमिट करने से पहले परिजनों ने मरीज का कोरोना टेस्ट कराया था. टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मेडिका अस्पताल में एडमिड लिया गया.

मेडिका की ओर से एडमिट लेने के बाद मरीज का फिर से कोरोना का टेस्ट कराया गया, जो पॉजिटिव निकला. परिजनों का आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन की ओर से मरीज का हर तीन से चार दिन पर कोरोना टेस्ट कराया गया, वो हर बार पॉजिटिव ही आया. जबकि मरीज जिस समस्या की वजह से मेडिका में एडमिट हुआ था, उसमें सुधार हो चुका है.

advt

इसे भी पढ़ें –प्रेग्नेंट हैं करीना कपूर खान, सैफ अली खान ने कहा- परिवार में नन्हा सदस्य जुड़ने जा रहा है

जब बाहर कोरोना टेस्ट की बात की तो अस्पताल ने नहीं दी अनुमति

अस्पताल के टेस्ट रिपोर्ट पर संदेह होने पर मरीज के परिजनों ने बाहर टेस्ट कराने की बात अस्पताल प्रबंधन से की. इसपर अस्पताल प्रबंधन ने अनुमति नहीं दी. इसके बाद परिजनों ने डिस्चार्ज करने को कहा, तब अस्पताल प्रबंधन ने डिस्चार्ज करते हुए बूटी मोड़ स्थित होटल रॉयल रिट्रिट के पेड आइसोलेशन में डाल दिया.

जहां परिजनों को 6000 हजार रुपये प्रतिदिन देना पड़ रहा है. इससे पहले मेडिका में इलाज के दौरान 20 हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से परिजनों को देना पड़ रहा था.

पैसा देने में असक्षमता जाहिर करते हुए परिजनों से होम आइसोलेशन की बात कही, तो अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि डीसी से अनुमति लेने के बाद ही हम होम आइसोलेशन की अनुमति दे सकते हैं.

adv

परिजनों के इस आरोप पर मेडिका अस्पताल के पीआरओ आनंद श्रीवास्तव ने कहा कि अस्पताल की ओर से गर्वमेंट गाइडलाइन के अनुसार, इलाज किया जा रहा है. मरीज का कोरोना टेस्ट निगेटिव आते ही छोड़ दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें –Corona Impact : जो दिखा चुके हैं पहले टैलेंट, उन्हीं खिलाड़ियों को JSSPS के स्पोर्टस एकेडमी में मिलेगा दाखिला

 

advt
Advertisement

6 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button