Crime NewsJharkhandRanchiTOP SLIDER

झारखंड में घूसखोरों के खिलाफ एसीबी की हैट्रिक

Ranchi: झारखंड में एंटी करप्शन ब्यूरो ने आज गिरफ्तारी की हैट्रिक लगायी है. एक ही दिन में तीन अलग-अलग सरकारी कर्मियों को घूस लेते पकड़ा गया है. इनमें एक गिरफ्तारी बोकारो, एक गढ़वाऔर एक हजारीबाग जिले में हुई है.

हजारीबाग में सिविल सर्जन कार्यालय का डीडीएम 4 हजार लेते धराया

हजारीबाग निगरानी विभाग की टीम ने शुक्रवार को सदर अस्पताल परिसर स्थित सिविल सर्जन कार्यालय के डीडीएम (डिस्ट्रिक्ट डाटा मैनेजर) दिवाकर अंवष्टा को 4,000 रुपए घूस लेते रंगेहाथ दबोच लिया. बताया जाता है कि बरही स्थित गौरियाकर्मा में जागेश्वर प्रसाद जेपी क्लिनिक चलाता है. उसी के रिन्यूअल के लिए डीडीएम उससे पांच हजार रुपए मांग रहा था. आखिरी सौदा 4,000 रुपए में तय हुआ था. इस बात की शिकायत क्लिनिक संचालक ने निगरानी विभाग में आवेदन देकर की थी. आवेदन के सत्यापन के बाद आज पैसे देते हुए डीडीएम को सिविल सर्जन कार्यालय से रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया.

advt

इसे भी पढ़ें- 1 लाख 6 हजार परिवारों को वाटर कनेक्शन देगा रांची नगर निगम

गढ़वा में महालेखागार कार्यालय का लिपिक 4500 रुपये लेते धराया

पलामू एसीबी की टीम ने गढ़वा महालेखागार कार्यालय के लिपिक रविन्द्र पांडे को 4500 रूपए घूस लेते गिरफ्तार किया है. खतियान का नकल निकालने के एवज में लिपिक गढ़वा जिले के टंडवा के सत्यम कुमार से घूस ले रहे थे. सीबी के डीएसपी करूणानंद राम ने बताया कि गढ़वा के टंडवा निवासी बनारसी प्रसाद गुप्ता के पुत्र सत्यम कुमार जमीन के खतियान का नकल निकालने के लिए जिला अभिलेखागार कार्यालय गढ़वा के लिपिक रविन्द्र पांडे से संकर्प किया था. नकल निकालने के लिए कई बार आग्रह करने के बाद भी लिपिक बिना घूस लिये कार्रवाई को तैयार नहीं हुआ. वादी घूस नहीं देना चाहता था. उसने इस सिलसिले में एसीबी के मेदिनीनगर कार्यालय में शिकायत दर्ज करायी. शिकायत के आलोक में जांच करायी गयी. आरोप सही सिद्ध हुआ. इसके बाद घूस के रूपए देकर वादी को लिपिक के पास भेजा गया. शुक्रवार की दोपहर गढ़वा महालेखागार कार्यालय में जैसे ही लिपिक ने घूस की राशि ली, एसीबी की टीम ने उसे रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया.

इसे भी पढ़ें- गोली और बम के धमाकों से दहला धनबाद, पुलिस के सामने हुई हिंसक झड़प

बोकारो में ब्लॉक कोऑर्डिनेटर ले रहा था 10 हजार

धनबाद एसीबी की टीम ने बोकारो के जारीडीह प्रखंड के ब्लॉक कोऑर्डिनेटर को 10 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया है. जानकारी के मुताबिक ब्लॉक कोऑर्डिनेटर दीपक कुमार को बोकारो के जैनामोड में रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया है. प्रखंड कोऑर्डिनेटर दीपक कुमार गिरिडीह पंचायत के मुखिया हकीम महतो से प्रधानमंत्री आवास पास कराने को लेकर प्रति आवास 2000 मांगा था जिसमें 19 आवास पास कराने के लिए मुखिया के द्वारा दिया गया था. इस दौरान अग्रिम राशि के रूप में मुखिया के द्वारा जैसे ही कोऑर्डिनेटर दीपक कुमार को 10000 रुपये दिये जा रहे थे, एसीबी की टीम ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

इसे भी पढ़ें- JSSC में क्षेत्रीय एवं जनजातीय भाषाओं की श्रेणी से हिंदी-अंग्रेजी को बाहर करने के खिलाफ हाइकोर्ट में रिट याचिका दायर

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: