Education & CareerJharkhandRanchi

ABVP का छात्र नेता सम्मेलन: ‘वर्तमान शैक्षणिक परिस्थिति एवं विद्यार्थियों की मन: स्थिति’ पर हुई चर्चा

Ranchi : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, झारखंड प्रदेश का एक दिवसीय छात्र नेता सम्मेलन संपन्न हुआ. यह सम्मेलन ऑनलाइन ब्लू जींस ऐप के माध्यम से आयोजित किया गया.

दो सत्रों में आयोजित इस सम्मेलन के पहले सत्र में ‘वर्तमान शैक्षणिक परिस्थिति एवं विद्यार्थियों की मन: स्थिति, परिषद के प्रयास एवं सुझाव’ पर चर्चा हुई.

इसमें प्रदेश अध्यक्ष नाथू गाड़ी, राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी और राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री निवास सहित कई लोगों ने शिरकत की.

उद्घाटन भाषण में राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि आज समाज और राष्ट्र निवारण के विषय में हमारा दायित्व बढ़ गया है. हमारा चाल, चरित्र, रहन-सहन शब्द से हमारे विचार परिलक्षित होने चाहिए.

कॉलेज कैंपस में छात्र हमें देखकर फॉलो करता है. अभाविप झारखंड ने कोरोना संकटकाल में लागातार जिस तरह सेवा कार्य किया है, वह बहुत ही सराहनीय है.

उन्होंने कहा कि अभाविप आउटडेटेड छात्र संगठन नहीं, बल्कि अपडेटेड छात्र संगठन है.

वहीं श्रीनिवास ने कहा कि आज के दिन ही चाइना के कम्युनिस्ट सरकार ने 10,000 से ज्यादा छात्रों को टैंक के नीचे रौंद कर मार दिया गया था. छात्र नेता अपनी समस्याओं के समाधान की मांग कर रहे थे.

आज हम सभी को छात्र नेता के अलावा सामाजिक कार्यकर्ताओं का भाव रखते हुए भी चलना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – Corona: 4 जून को कुल 45 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, झारखंड में हुए 826 केस

शिक्षण व्यवस्था की स्थिति और विद्यार्थियों की परेशानियों को उठाया गया 

छात्र नेता सम्मेलन के दौरान विद्यार्थियों की वर्तमान परिस्थिति और उनके मन: स्थिति पर विचार किया गया. इसके तहत इन विषयों को उठाया गया :

  • अखबारों के माध्यम से प्राप्त जानकारी और विश्वविद्यालय के नोटिफिकेशन से आने वाले बातों में विरोधाभास होने से विद्यार्थियों में असमंजस की स्थिति है.
  • विश्वविद्यालयों के द्वारा ऑनलाइन कक्षाएं चलायी जा रही हैं जिससे ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले छात्र-छात्राएं उसका लाभ उठा नहीं पा रहे हैं.
  • निजी स्कूल के द्वारा ही माफी के ऊपर दोहरा मापदंड अपनाया जा रहा है.
  • विश्वविद्यालयों के द्वारा यह कहा जा रहा है कि उनका सिलेबस कंप्लीट हो गया है जबकि विद्यार्थियों के द्वारा यह बात बार-बार सामने आ रही है कि अभी तक सिलेबस कंप्लीट नहीं हुआ है.
  • रांची विश्वविद्यालय में रेडियो खांची के माध्यम से पढ़ाई करायी जा रही है. इससे साइंस और कॉमर्स के विद्यार्थियों को समझने में काफी परेशानी हो रही है.
  • शिक्षकों के द्वारा डाउट क्लियर करने के लिए किसी तरीके की क्लास नहीं चलायी जा रही है.
  • ग्रामीण क्षेत्र के लोगों में पुस्तक और इंटरनेट की उपलब्धता नहीं रहने के कारण वे एग्जाम की तैयारी नहीं कर पा रहे हैं.
  • प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों में सेशन लेट होने और उम्र बढ़ने पर रियायत मिलेगी या नहीं मिलेगी इस विषय को लेकर काफी चिंता है.
  • विश्वविद्यालय की वेबसाइट और सूचना तंत्र कमजोर रहने के कारण विद्यार्थियों तक विश्वविद्यालय द्वारा किसी तरीके के जारी किये जा रहे नोटिफिकेशन की जानकारी नहीं पहुंच पा रही है.

इसे भी पढ़ें – 170 करोड़ के घोटाला मामले में ACB की जांच पूरी, निरंजन कुमार के खिलाफ दर्ज हो सकती है FIR

एवीबीपी छात्र हित में कर रहा प्रयास

छात्रों की समस्या के निदान के लिए संगठन की ओर से किये गये प्रयासों की चर्चा भी हुई. संगठन की ओर से महाविद्यालयों सहित सभी विश्वविद्यालयों और राज्यपाल महोदया को ज्ञापन देकर वर्तमान शैक्षिक स्थिति से अवगत कराया गया है.

इस संबंध में निधि त्रिपाठी ने बताया कि परिषद ने पूर्व में ज्ञापन के माध्यम से नयी टेक्नोलॉजी की शिक्षकों की ट्रेनिंग, प्रतियोगी परीक्षा के छात्रों के लिए एज रिलैक्सेशन, शिफ्ट वाइज एग्जामिनेशन, परीक्षा के विभिन्न स्वरूप इत्यादि सभी विषयों पर प्रधानमंत्री को भी ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया है

सम्मेलन के दूसरे सत्र में राष्ट्रीय संगठन मंत्री आशीष चौहान ने सभी कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन दिया. मौके पर कैंपस खुलने के बाद अवेयरनेस प्रोग्राम, ऑनलाइन कार्य के लिए प्रोत्साहन, सोशल मीडिया की उपयोगिता, सिलेबस, हेल्पडेस्क, सेमिनार आदि के आयोजन पर चर्चा हुई.

बैठक का संचालन प्रदेश मंत्री राजीव रंजन देव ने किया. बैठक में क्षेत्रीय संगठन मंत्री निखिल रंजन, प्रांत संगठन मंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ला, प्रदेश अध्यक्ष नाथू गाड़ी, राष्ट्रीय मंत्री विनीता इंदवार, प्रांत प्रमुख श्रवण सिंह, राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य पंकज कुमार, राष्ट्रीय सोशल मीडिया सह प्रभारी दीपेश कुमार समेत पूरे राज्य से सभी जिले के छात्र नेता उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – टेरर फंडिंग को लेकर NIA की रडार पर राम कृपाल सिंह कंस्ट्रक्शन, झारखंड की सत्ता पर रहा है कंपनी का दबदबा

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close