Education & CareerRanchi

RU नामांकन लेने में सक्षम, चांसलर पोर्टल से एडमिशन लेना गलत: ABVP

विज्ञापन
Advertisement

Ranchi : हर साल निजी कंपनी को लाभ देने के लिए चांसलर पोर्टल के माध्यम से एडमिशन लिया जा रहा है. जबकि रांची विश्वविद्यालय नामांकन लेने और नामांकन से संबंधित तमाम प्रक्रिया को पूरा करने में सक्षम है. इसके बाद भी सरकार की ओर से चांसलर का नाम जोड़कर चांसलर पोर्टल से एडमिशन लेने को कहा जाता है.

इस नामांकन पोर्टल को जितना आसान बताया जाता है, उतना आसान है नहीं. इस पोर्टल के माध्यम से सरकार रांची विवि की स्वायत्ता के साथ जानबुझ कर खिलवाड़ कर रही है.

चांसलर पोर्टल के माध्यम से नामांकन लेने की बाध्यता के विरोध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने ज्ञापन सौंपा. सिंडिकेट सदस्य अटल पांडेय ने कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडेय और प्रतिकुलपति डॉ कामिनी कुमार को ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन सौंपते हुए उन्होंने नामांकन के माध्यम को वापस लेने की बात कही.

advt

इसे भी पढ़ें –पूर्व डीजीपी डीके पांडेय, पत्नी पूनम पांडेय और बेटा शुभांगन पांडेय की जमानत याचिका पर हुई सुनवाई

अव्यवहारिक है चांसलर पोर्टल से नामांकन

उन्होंने चांसलर पोर्टल के तहत नामांकन की प्रक्रिया को अव्यवहारिक बताया. कहा कि इससे नामांकन की प्रक्रिया को बिना किसी रूकावट के पूरा किया ही नहीं जा सकता है. उन्होंने साफ-साफ कहा कि रांची विवि सहित राज्य का हर विवि खुद से नामांकन लेने में सक्षम है, तो फिर चांसलर पोर्टल का कोई मतलब नहीं है.

उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय अंतर्गत ग्रामीण कॉलेज भी आते हैं. जहां इंटरनेट और बिजली की भारी समस्या है. इंटरनेट कैफे से फॉर्म भरने में आर्थिक परेशानी होती है. छात्रों को पिछले दो साल  से चांसलर पोर्टल के नाम से परेशानी में डाला जा रहा है. उन्होंने कहा कि यह बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. इस निर्णय को सरकार को वापस लेना होगा.

इसे भी पढ़ें –ग्राहकों को झटका देने की तैयारी में Samsung, जानें कैसे

advt
Advertisement

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: