JharkhandJharkhand PoliticsRanchi

अभय सिंह का दावा-तेजस्वी के ‘तेज’ से कांग्रेसी हो रहे अचंभित, झारखंड में बढ़ रहा राजद का कारवां

Ranchi: प्रदेश राजद का दावा है कि झारखंड में राष्ट्रीय जनता दल लगातार मजबूत हो रहा है. देश के युवा आईकॉन एवं बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सह प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव भारतीय राजनीति में नये सितारे बनकर उभर रहे हैं. बिहार के बाद अब झारखंड पर उनकी विशेष निगाह है. पार्टी का कारवां बढ़ने लगा है.

प्रदेश राजद अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका दावा किया. कहा कि तेजस्वी की झारखंड में बढ़ती सक्रियता ने कांग्रेस सहित दूसरे दलों में बेचैनी बढ़ानी शुरू कर दी है. सभी दलों में स्वाभाविक बेचैनी है. मंत्री रामेश्वर उरांव का यह कहा जाना कि झारखंड में राजद का जनाधार नहीं है, इसी का परिचायक है. राजद केवल बिहार का ही नहीं, झारखंड में भी एक अहम दल है. महागठबंधन के सहयोग से कांग्रेस ने चुनाव लड़ा और जीत हासिल की. अकेले लड़ने से उनको अपनी राजनीतिक हैसियत का पता चल जाता.

कांफ़्रेंस में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश यादव, प्रदेश प्रवक्ता स्मिता लकड़ा, मनोज कुमार सहित कई अन्य नेता भी उपस्थित थे.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें – IPL: धौनी और CSK के बीच कैसे हैं रिश्ते..?  एन श्रीनिवासन ने कही ये बड़ी बात

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

मर्यादा से बाहर ना हो बात

अभय कुमार सिंह ने कहा कि झारखंड में महागठबंधन सरकार के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री रामेश्वर उरांव को गठबंधन धर्म का पालन करना चाहिये. उनको कोई भी बयान अपनी मर्यादा में रहकर देना चाहिये. प्रदेश राजद के बारे में उन्होंने ओछा बयान दिया है. उनके जैसे वरिष्ठ मंत्री को  यह शोभा नहीं देता है.

एक भी कार्यकर्ता कांग्रेस में नहीं हुआ शामिल

मनिका (लातेहार) में मिलन समारोह में राजद के कई कार्यकर्ताओं के कांग्रेस में शामिल होने की बात रामेश्वर उरांव ने कही है. यह झूठ और बिल्कुल बेबुनियाद बात है. राजद का एक भी कार्यकर्ता किसी भी पार्टी में नहीं गया है. झारखंड प्रदेश में राजद का जनाधार अभी बढ़ा है. हाल में रांची में तेजस्वी यादव पार्टी के एक कार्यक्रम में आये थे. इस दौरान उमड़ी ऐतिहासिक भीड़ ने साबित कर दिया था कि उसकी लोकप्रियता लगातार बढ़ी है.

इसे भी पढ़ें – सोनारी पुलिस ने जांच के बाद कोमल के दो नाबालिग बच्चों को सुपुर्द किया

Related Articles

Back to top button