ChaibasaJamshedpurJharkhandRanchi

1200 करोड़ का स्टार्ट अप खड़ा करनेवाले चाईबासा के अंकित ने झारखंड के स्कूली पाठ्यक्रम में कोडिंग को शामिल करने का दिया सुझाव

झारखंड सरकार की बजट गोष्ठी में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बॉबल एआई के संस्थापक के सुझाव पर अमल करने की बात कही

Jamshedpur :  1200 करोड़ का स्टार्ट अप खड़ा करनेवाले चाईबासा के उद्यमी अंकित प्रसाद ने शुक्रवार को झारखंड सरकार की ओर से आयोजित बजट गोष्ठी में हिस्सा लिया. दुनिया के पहले कन्वर्सेशन मीडिया प्लेटफॉर्म बॉबल एआई के संस्थापक अंकित ने झारखंड के आगामी बजट को विकासोन्मुख बनाने का सुझाव दिये. उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, वित्तमंत्री रामेश्वर उरांव, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह और वित्त विभाग के प्रधान सचिव अजय कुमार सिंह की मौजूदगी में राज्य में उद्यमिता को बढ़ावा देने के मुद्दे पर कई सुझाव दिये, जिस पर अमल कर झारखंड में स्टार्ट अप के लिए अनुकूल माहौल बनाया जा सकता है.

झारखंड में प्रतिभाओं की कमी नहीं

अंकित कहा कि राज्य में उद्यमिता और सूचना प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए प्रतिभाओं की कमी नहीं है. अगर राज्य में स्टार्ट अप के लिए अनुकूल माहौल बनाया जाये, तो वह दिन दूर नहीं, जब झारखंड के शहरों में भी ऐसे युवा उद्यमियों की जमात होगी, जिनकी प्रतिभा का लोहा पूरी दुनिया मानेगी. लेकिन इसके लिए युवा उद्यमियों की जमीनी समस्याओं और जरूरतों, मसलन मेंटरशिप के लिए एक्सपर्ट समूह बनाकर सीड फंडिंग करनी होगी. इसके लिए निजी निवेशकों के साथ मिलकर एक कोष बनाने, कंपनी के गठन और संचालन से जुड़े सरकारी नियमों को अनुकूल बनाने की जरूरत है. उन्होंने गोवा की तर्ज पर कोडिंग को स्कूली शिक्षा से जोड़ने, समाज के हाशिये पर जीने वाले अनुसूचित जाति-जनजाति और पिछड़े वर्ग के प्रतिभाशाली युवाओं के साथ-साथ महिलाओं के लिए आर्थिक सहायता और दूसरी जरूरी सुविधाएं मुहैया करवाने जैसे कदम उठाने होंगे. अगर ऐसा हो पाता है, तो न केवल इससे राज्य के युवा अपने सपने साकार कर पायेंगे, बल्कि इससे बेरोजगारी जैसी समस्या से भी मुकाबला किया जा सकेगा.

Catalyst IAS
SIP abacus

आईआईएम रांची के साथ मिलकर हुआ कार्यक्रम  

MDLM
Sanjeevani

झारखंड सरकार के वित्त विभाग ने इस कार्यक्रम का आयोजन भारतीय प्रबंधन संस्थान रांची के सहयोग से किया, जो अपने आप में एक नयी पहल है. उम्मीद की जा रही है कि इससे सरकार की नीतियों और बजट के प्रावधानों को और प्रभावकारी बनाने में मदद मिलेगी. इस दौरान अंकित प्रसाद ने झारखंड में स्टार्ट अप के विकास से जुड़े अपने सुझावों की सूची मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को सौंपी, जिन्होंने विश्वास दिलाया कि राज्य सरकार निश्चित तौर पर इस दिशा में ज़रूरी कदम उठायेगी ताकि झारखंड के युवाओं को अपने सपनों को साकार करने के लिए किसी दूसरे राज्य का रुख नहीं करना पड़े. उल्लेखनीय है कि बॉबल एआई ने की-बोर्ड एप्लीकेशन बनाया है, जिसका इस्तेमाल करोड़ों मोबाइल यूजर करते हैं . खास बात यह है कि इस कीबोर्ड एप्लीकेशन को गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियों के की बोर्ड एप्लीकेशन से कहीं ज्यादा पसंद किया और उपयोगी माना जाता है.

इसे भी पढ़ें – पलामू : फोन पर बात करने के बाद अचानक कमरे में गया युवक, भाभी की साड़ी से फांसी लगाकर कर दी जान

 

Related Articles

Back to top button