न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आम आदमी पार्टी ने रांची में शुरू किया बिजली-पानी आंदोलन, पर्चा विशेष जारी किया

263
  • प्रधानमंत्री कार्यालय को जनता द्वारा हस्ताक्षरित 25 हज़ार शिकायत सह मांग पत्र भिजवाया जायेगा
  • 12 जून को राजभवन पर होगा एक दिवसीय अनशन

Ranchi: आम आदमी पार्टी ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता कर बिजली-पानी आंदोलन से संबंधित पर्चा एवं प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजा जानेवाला शिकायत पत्र जारी किया. आंदोलन के पहले चरण में रांची शहर के सभी मोहल्लों में जाकर सभा कर अभियान चलाया जायेगा. प्रधानमंत्री कार्यालय को हस्तक्षेप करने के लिए जनता द्वारा हस्ताक्षरित 25 हज़ार शिकायत पत्र सह मांग पत्र भिजवाया जायेगा. जिससे प्रधानमंत्री कार्यालय को भी रघुवर सरकार की सच्चाई का पता चलेगा. 12 जून को होगा राजभवन पर एक दिवसीय अनशन होगा.

इसे भी पढ़ें – alexa.com रैंकिंग में newswing.com को हिन्दी न्यूज पोर्टल श्रेणी में देश में 21वां रैंक

जनता बिजली-पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रही है

प्रदेश सचिव राजन कुमार सिंह ने कहा कि झारखंड को अलग राज्य बने हुए 18 साल हो गये हैं फिर भी खनिज संपदा से समृद्ध झारखंड कि जनता बिजली-पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रही है. रांची शहर की जनता बिजली-पानी की समस्या से पिछले कई वर्षों से भयावह स्थिति का सामना कर रही है. मुख्यमंत्री रघुवर दास तथा नगर विकास मंत्री सह रांची विधायक सीपी सिंह द्वारा बार-बार किये वादे भी पूरी तरह झूठे और जनता के साथ धोखा साबित हुए हैं. राजधानी रांची में 4 से 6 घन्टे बिजली गुल रहती है तथा आसपास के कई इलाके में तो 8-8 घन्टे बिजली कटती है.

इसे भी पढ़ें – धोनी ग्लव्स मामले में BCCI ने ICC से मांगी अनुमति, विचार करेगी विश्व संस्था

Related Posts

धनबाद : हाजरा क्लिनिक में प्रसूता के ऑपरेशन के दौरान नवजात के हुए दो टुकड़े

परिजनों ने किया हंगामा, बैंक मोड़ थाने में शिकायत, छानबीन में जुटी पुलिस

SMILE

50 हज़ार घरों को पानी देने की योजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गयी

राजन कुमार सिंह ने कहा कि रांची शहर के 80% घरों में पाइप लाइन से पानी नहीं आता है और अधिकतर इलाके में घण्टों लाइन में लगने के बाद भी लोगों को टैंकर से भी पानी नसीब नहीं होता है. 50 हज़ार घरों को पानी देने की योजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गयी. 2012 में पूरी होनेवाली 30 माह की योजना 10 साल से अधूरी है. बजट 234 करोड़ से दो तिहाई बढ़ कर 380 करोड़ हो गया और इस योजना को पूरा करने का ठेका हैदराबाद की ब्लैकलिस्टेड कम्पनी को दे दिया गया. मौके पर प्रदेश कोषाध्यक्ष आलोक शरण ने कहा कि मुख्यमंत्री का “ज़ीरो पवार कट” का वादा और नगर विकास मंत्री मंत्री सीपी सिंह का हर घर को पानी का वादा पूरी तरह जुमला साबित हुआ. इस आंदोलन में बिजली-पानी से संबंधित आम आदमी पार्टी की 5 मांगें हैं.

इसे UPSC ने जारी किया कैलेंडर, 2020 तक 25 परीक्षाओं का होगा आयोजनभी पढ़ें –

  1. रांची सहित पूरे झारखंड में 24 घन्टे बिजली की निर्बाध आपूर्ति की जाये.
  2. दिल्ली सरकार की तरह 200 यूनिट तक घरेलू और कॉमर्शियल बिजली ₹ 1 प्रति यूनिट दी जाये.
  3. तत्काल हर घर को टैंकर से अविलंब पानी उपलब्ध करायी जाये.
  4. हर घर को पाईपलाइन से जोड़ कर दिल्ली के तर्ज पर मुफ्त पानी दिया जाये.
  5. बिना सूचना के बिजली काटने पर बिजली कम्पनी दिल्ली की तरह उपभोक्ताओं को जुर्माना दे.

इसे भी पढ़ें – लातेहार : पूर्व डीजीपी राजीव कुमार को भूल नहीं पा रहे मुरहर  के ग्रामीण, आज भी इंतजार में हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: