Crime NewsDeogharJharkhand

बीमार पत्नी से मिलने ससुराल जा रहे युवक की सड़क हादसे में मौत

Deoghar : गुरुवार को एक बाइक सवार 23 वर्षीय युवक की सड़क हादसे में मौत हो गयी. मृतक का नाम अक्षय कुमार पासवान था. वह बिहार के जमुई जिले के सिमुलतला थाना क्षेत्र स्थित मोतिया भिकसा गांव के रहनेवाले थे. यह सड़क हादसा सीमावर्ती बिहार के जमुई जिले के सिमुलतला थाना क्षेत्र के मोतिया भिकसा गांव के पास हुआ.

मृतक की पत्नी बबली देवी द्वारा वैद्यनाथ धाम ओपी पुलिस को दिये बयान में कहा गया है कि अक्षय कोलकाता स्थित एक कंपनी में काम करते थे. उनके पिता जिस कंपनी में काम करते थे, उसी कंपनी में वह अपने पिता की जगह पर काम करते थे. उनके पिता की दुर्घटना हो गयी थी, जिसके बाद वह पिता की जगह वहां काम कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें- बिहार से पश्चिम बंगाल पहुंचाये जा रहे थे 95 मवेशी, गिरिडीह में कर लिये गये जब्त

Catalyst IAS
ram janam hospital

सिर में लगी थी गंभीर चोट

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

बबली देवी ने बताया कि फिलहाल वह चंद्रमनडीह थाना क्षेत्र के जीतपुर गांव स्थित अपने मायके में रह रही है. उसे हार्ट से संबंधित कुछ समस्या, जिसका इलाज उसके मायकेवाले करा रहे हैं. कुछ दिनों पहले ही वह पटना से इलाज कराकर मायके लौटी थी. बुधवार को उनके पति अक्षय कोलकाता में ही रहनेवाले गांव के अन्य तीन-चार युवकों के साथ गाड़ी से अपने गांव पहुंचे. गांव पहुंचने के बाद वह तुरंत अपनी मोटरसाइकिल से पत्नी से मिलने बिना कुछ खाये-पीये अपनी ससुराल जाने के लिए निकले. गांव से करीब आधा किलोमीटर आगे जाने के बाद मोटरसाइकिल अनियंत्रित होकर गिर गयी. इस हादसे में अक्षय के सिर में गंभीर चोट आ गयी.

इसे भी पढ़ें- देवघर: राजस्थान के प्रशासनिक पदाधिकारी के ससुर के पैसे उड़ाने वाले साइबर अपराधी समेत 12 गिरफ्तार

हादसे के बाद आस-पास मौजूद लोगों ने तुरंत इसकी जानकारी अक्षय के घरवालों को दी. सूचना मिलने के बाद परिजन सहित अन्य लोगों ने आनन-फानन में अक्षय को इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. उसके बाद सदर अस्पताल प्रबंधन द्वारा मामले की सूचना वैद्यनाथधाम ओपी पुलिस को दी गयी. सूचना मिलने के बाद वैद्यनाथधाम ओपी प्रभारी मिथिलेश कुमार सिंह ने मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन की. बाद में परिजनों द्वारा मामले में किसी का दोष नहीं होने की बात कहते हुए शव का पोस्टमॉर्टम कराये बिना ले जाने का लिखित आवेदन पुलिस को दिया गया, जिसके बाद वैद्यनाथधाम ओपी पुलिस द्वारा शव को अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया.

इसे भी पढ़ें- शराबी पति से परेशान महिला ने एक्सपायर्ड दवा खाकर दी जान

Related Articles

Back to top button