न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्यभर में एक महीने में 44 नदियों के तट पर लगाये जायेंगे  8.25 लाख पौधे : सीएम

 झारखंड को उसके नाम के अनुरूप वनों से आच्छादित करने में राज्य सरकार को सहयोग करें. क्योंकि जल, जंगल, जमीन और जलवायु हमारी अमानत है और इसका संरक्षण करना हमारा पुनीत कर्तव्य.

73

Ranchi : रांची के बोड़या स्थित जुमार नदी के तट पर रविवार को नदी महोत्सव सह वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस दौरान रघुवर दास ने कहा कि एक महीने में झारखंड के 24 जिलों के 44 नदी तट, 64 स्थल, 244 किलोमीटर के क्षेत्र में 8.25 लाख पौधारोपण किया जायेगा.  कहा कि 2014 के बाद राज्य के वन क्षेत्र में 29 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी है. एक बार फिर समय आ गया है कि आप फिर अपने हिस्से का एक पौधा लगायें और उसे पेड़ बनायें. सीएम ने कहा कि झारखंड को उसके नाम के अनुरूप वनों से आच्छादित करने में राज्य सरकार को सहयोग करें. क्योंकि जल, जंगल, जमीन और जलवायु हमारी अमानत है और इसका संरक्षण करना हमारा पुनीत कर्तव्य.

इसे भी पढ़ें  जल प्रबंधन के लिए सीएम ने किया श्रमदान, कहा, गांव वाले जल संचयन करें, मिलेंगे  पांच लाख  

करम वृक्ष के एक लाख पौधे लगाये जायेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड की संस्कृति से जुड़े करम पर्व और सरहुल पर्व के दौरान करम के 1-1 लाख पौधे लगाये जायेंगे. बताया कि करीब 60 हजार करम के पौधे 2018 में लगाये गये थे. ऐसा करने का तात्पर्य इसलिए क्योंकि सरहुल और करम पर्व प्रकृति जुड़े हमारे महत्वपूर्ण पर्व हैं. पुरातन काल से ही पेड़ पौधे हमारी संस्कृति और पूजा- पाठ से जुडे रहे हैं और रहेंगे.

सरकार विकास करेगी,प्रकृति का संरक्षण भी होगा

सरकार की मंशा बिल्कुल स्पष्ट है. सरकार जो भी विकास कार्य करेगी, उसमें प्रकृति के संरक्षण का विशेष ध्यान रखा जायेगा. हम सभी को पता है कि पानी वहीं बरसता है, जहां पेड़ होंगे, पेड़ नहीं होंगे तो वर्षा नहीं, वर्षा नहीं तो फसल नहीं. इसलिए भूमि, मिट्टी, पौधा, पानी और प्राणी का प्रबंधन करें, ताकि आनेवाली और वर्तमान पीढ़ी का जीवन सुखमय हो. इसी अनुरूप सरकार भी कार्य करेगी और राज्य की जनता से भी यही अपेक्षित है.

इसे भी पढ़ें : हेमंत के आवास पर 10 को जुटेगा विपक्ष, ग्रुप कैंपेनिंग और कार्यकर्ताओं में सामंजस्य पर जोर

 

Mayfair 2-1-2020
SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020
Sport House

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like