न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची के वेटनरी कॉलेज के छात्र ने अपने सीनियर पर लगाया रैगिंग करने का आरोप

350

Ranchi : रांची के वेटनरी कॉलेज में रैगिंग का बड़ा मामला सामने आया है. वेटनरी कॉलेज के एक छात्र ने अपने सीनियर पर रैगिंग करने का आरोप लगाया है. मामले की जानकारी होने पर जब डीन जांच करने के लिए हॉस्टल पहुंचे, तो पता चला कि फर्स्ट ईयर के सभी छात्रों के बाल सीनियर छात्रों ने छोटे कर दिये हैं और एक छात्र इस दौरान बेहोश भी हो गया, जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है.

जूनियर छात्रों ने डीन से कहा- सीनियर छात्र हमें प्रताड़ित करते हैं

डीन के हॉस्टल पहुंचने पर फर्स्ट ईयर के छात्रों ने उन्हें बताया कि सीनियर छात्रों द्वारा उन लोगों को सिर मूंडने का भी आदेश दिया गया है. जूनियर छात्रों ने बताया कि सीनियर छात्रों द्वारा उन्हें प्रताड़ित भी किया जाता है. जूनियर छात्रों के मुताबिक, वेटनरी कॉलेज में सीनियर छात्रों द्वारा जूनियर छात्रों को सुबह में चार किलोमीटर दौड़ने और झुककर प्रणाम करने का आदेश दिया गया है. जो छात्र इस आदेश को नहीं मानते हैं, उन्हें सीनियर छात्र प्रताड़ित करते हैं.

इसे भी पढ़ें- नीरज सिंह हत्याकांड से जुड़े मामले में दो आरोपियों को 8 साल की सजा, संजीव सिंह के मामा बरी!

एक छात्र हो गया बेहोश

फर्स्ट ईयर के छात्रों द्वारा सीनियर छात्रों पर रैगिंग का आरोप लगाने के बाद मामले की जांच करने डीन और एंटी रैगिंग के अधिकारी पहुंचे, तो उन्होंने भी देखा कि सभी छात्रों के सिर के बाल छोटे कर दिये गये है. लेकिन, कोई छात्र कुछ बोलने को तैयार नहीं था. एक छात्र जो बोल रहा था, वह भी बोलते-बोलते बेहोश हो गया. आनन-फानन में उसे कांके के अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां अभी उसका इलाज चल रहा है.

इसे भी पढ़ें- बड़ी घटना को अंजाम देने जा रहे पांच आरोपी गिरफ्तार, कई फरार

डीन ने जांच कमिटी का किया गठन

दरअसल, हॉस्टल में सीनियर छात्रों का खौफ इस कदर हावी है कि इतना कुछ होने के बाद भी कोई कुछ नहीं बोलता है. लेकिन, अपने साथ हद से ज्यादा जुल्म होता देख एक छात्र ने अपने परिजन को इसकी सूचना दी. फिर सभी कॉलेज के डीन और पुलिस के साथ हॉस्टल पहुंचे. डीन ने पूरे मामले की जांच के लिए एक कमिटी का गठन किया है.

इसे भी पढ़ें- न्‍यूड वीडियो मामले में पुलिस ने की दोनों पक्षों से बात, जांच का आदेश

क्या कहते हैं डीन

वेटनरी कॉलेज के डीन वीरेंद्र कुमार कहते हैं कि मामला छात्रों के दो गुटों के बीच विवाद का है. लेकिन, जो भी इसमें दोषी पाया जायेगा, उस पर कार्रवाई होगी. साथ ही, शिकायत करनेवाले छात्रों को सुरक्षा भी दी जायेगी, ताकि फिर सीनियर छात्र उनके साथ कुछ न करें.

इसे भी पढ़ें- काम से निकाला तो दी बच्‍चे की किडनैपिंग की धमकी और मांगी 1 करोड़ की रंगदारी

रैगिंग की बात झूठी है, कार पार्क करने को लेकर हुआ था विवाद : कांके थाना प्रभारी

वेटनरी कॉलेज में छात्रों के साथ हुई रैगिंग के मामले को लेकर जब कांके थाना प्रभारी से बात की गयी, तो उन्होंने कहा कि कुछ लड़कों द्वारा मीडिया को बुलाकर रैगिंग की झूठी बात कही गयी, जबकि यह बात पूरी तरह बेबुनियाद है. जिस लड़के द्वारा मारपीट की बात कही जा रही है, वह पहले से दिव्यांग है और वह कार से कॉलेज आता है. इसी कार को पार्क करने को लेकर विवाद हुआ था, जिसमें मारपीट भी नहीं हुई थी. जहां तक लड़के को अस्पताल में भर्ती करवाने की बात है, तो लड़के को सिर में दर्द होने की शिकायत पर वेटरिनरी कॉलेज के डीन ने खुद हॉस्पिटल ले जाकर भर्ती करवाया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: