न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Iranian_Commander कासिम सुलेमानी के मारे जाने के खिलाफ करगिल में जुलूस ,अमेरिकी सेना के विरोध में नारेबाजी

अंजुमन जमीयत उलेमा इस्‍ना अशरिया करगिल (एजेयूआईए) नामक संस्‍था ने अमेरिका के विरोध में करगिल की सड़कों पर प्रदर्शन किया.

58

Srinagar : इराक की राजधानी बगदाद में अमेरिकी हवाई हमले में ईरान के सीनियर कमांडर मेजर जनरल कासिम सुलेमानी के मारे जाने का असर जम्‍मू-कश्‍मीर के करगिल में दिखा.  खबरों के अनुसार कासिम सुलेमानी के मारे जाने के विरोध में  शुक्रवार को जम्‍मू-कश्‍मीर के करगिल में प्रदर्शनकारियों ने एजेयूआईए के बैनर तले जुलूस निकाला.

अंजुमन जमीयत उलेमा इस्‍ना अशरिया करगिल (एजेयूआईए) नामक संस्‍था ने अमेरिका के विरोध में करगिल की सड़कों पर प्रदर्शन किया. हाथों में बैनर लिये सैकड़ों लोगों ने अमेरिकी सेना के विरोध में नारेबाजी की.  प्रदर्शन के दौरान लोग हाथों में काले झंडे लिये हुए थे.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें :#CAA के समर्थन में  RSS देशभर के कॉलेज-यूनिवर्सिटी में 2000 से ज्यादा सेमिनार का आयोजन करेगा  

अल मुहांदिस एक काफिले के साथ सुलेमानी को रिसीव करने पहुंचे थे

जान लें कि गुरुवार देर रात अमेरिकी सेना ने ड्रोन हमले में कमांडर कासिम सुलेमानी को मार गिराया था.  इस हमले में ईरान समर्थित पॉप्‍युलर मोबलाइजेशन फोर्स के डेप्‍युटी कमांडर अबू मेहदी अल मुहांदिस भी मारा गया. सुलेमानी ईरान की इस्लामिक रिवॉल्यूशनरी सेना की एक ताकतवर विंग कदस फोर्स के मुखिया थे.

स्थानीय अधिकारियों के अनुसार अल मुहांदिस एक काफिले के साथ सुलेमानी को रिसीव करने पहुंचे थे.  खबरों के अनुसार सुलेमानी का विमान सीरिया या लेबनान से यहां पहुंचा था.  सूत्रों के अनुसार सुलेमानी विमान से उतरे और मुहानदिस उनसे मिल ही रहे थे कि अमेरिका ने मिसाइल हमला कर दिया. हमले में सभी मारे गये.

कमांडर सुलेमानी के मारे जाने से बौखलाये ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्लाहअली खमैनी ने चेतावनी दी है कि अमेरिका  इसका खामियाजा भुगतेगा. जान लें कि ईरान ने सुलेमानी की मौत पर तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है. सुलेमानी को अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का विरोधी माना जाता था.

इसे भी पढ़ें : पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा CAA के खिलाफ मुंबई से दिल्ली तक निकालेंगे भारत जोड़ो यात्रा 2020

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like